काजल की लगन और समर्पण को देखते हुए मुख्यमंत्री ने उसे सम्मानित किया है।

लखनऊ। जोश और जज्बे कायम हो तो इंसान अपनी मंजिल हासिल कर लेता है। ऐसा ही कर दिखाया प्रदेश का मान बढ़ानी वाली नन्ही धावक काजल ने। प्रयागराज से दौड़कर लखनऊ सीएम योगी से मिलने पहुंची काजल का सपना साकार हो गया। सीएम योगी ने केवल उससे मुलाकात ही नहीं की बल्कि उसे शनिवार को सम्मानित किया और उपहार में दौड़ने के लिए जूते भी दिए। प्रयागराज से राज्य की राजधानी तक के 200 किलोमीटर के इस सफर को मुख्यमंत्री ने सम्मानित कर और यादगार बना दिया। 

दरअसल, प्रयागराज के माण्डा थाना क्षेत्र के ललितपुर गांव के रहने वाले नीरज निषाद की 10 साल की बेटी काजल निषाद कक्षा 4 की छात्रा है। काजल ने एक स्थानीय खेल स्पर्धा में भाग लिया था और दौड़ को पूरा किया था लेकिन कार्यक्रम में उचित सम्मान न मिलने पर वह बहुत निराश हो गई थी। इसी बात को लेकर काजल ने सीएम को पत्र लिखकर मिलने की इच्छा जाहिर की थी। जिसके लिए काजल 10 अप्रैल को प्रयागराज से लखनऊ के लिए पैदल निकल पड़ी। 

15 अप्रैल को पूरा किया सफर

200 किलोमीटर लंबा सफर काजल ने शुक्रवार को पूरा किया और सीधे मुख्यमंत्री से मिलने 5 कालीदास मार्ग पर पहुंची। काजल की इस लगन और समर्पण को देखते हुए मुख्यमंत्री ने उसे सम्मानित किया और साथ ही साथ उसे आगे भी इसी तरह दौड़ में एक नया मुकाम हासिल करने के लिए प्रेरित करते हुए जूते, ट्रैक सूट और खेल किट भी उपहार में दिया। इस उपहार के लिए काजल ने मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया।इसके साथ ही बाबू बनारसी दास खेल अकादमी ने काजल की प्रतिभा का सम्मान करते हुए उसकी आगे की तैयारी के लिए उम्र भर खेल किट और जूते देने की जिम्मेदारी ली है।

पूरी स्टोरी पढ़िए