हत्यारों ने दो साल की बच्ची को भी नहीं बख्शा, सबूत मिटाने के लिए घर में लगाई आग।

UP के युवाओं के लिए बड़ी खुशखबरी, एक साल में 24 हजार युवाओं को मिलेगी सरकारी नौकरी, देखें वीडियो

प्रयागराज। संगमनगरी में अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहा है। बदमाश खुले आम पुलिस को चुनौती दे रहे हैं। जहां बीते दिनों एक परिवार के 5 लोगों की मौत से प्रयागराज दहल उठा था तो वहीं, जिले के गंगापार में शुक्रवार को एक और परिवार के पांच सदस्यों की हत्या कर दी गई। घर में सो रहे परिवार के मुखिया, पत्नी, बेटी, बहू और पौत्री की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। परिवार की एक बच्ची बच गई, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इतना ही नहीं वारदात को अंजाम देने के बाद घर में आगजनी भी की गई। जिससे गांव में दहशत का माहौल है। गांव वालों ने बताया कि सविता पांच माह की गर्भवती थी। 

वहीं, घर के मुखिया का बेटा भी बच गया क्योंकि वह किसी शादी समारोह में शामिल होने के लिए बाहर गया हुआ था। आशंका जताई जा रही है कि परिवार की एक युवती और बहू से दुष्कर्म किया गया है। फिलहाल पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच कर मामले की जांच कर रहे हैं। 

जांच के लिए सात टीमों का गठन

सामूहिक हत्याकांड से प्रशासन में हड़कंप मच गया है। पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में ले लिया है। डॉग स्क्वायड और फॉरेंसिक टीम की मदद से जांच शुरू कर दी गई है। मृतकों में में राज कुमार यादव (55) उनकी पत्नी कुसुम (50), बेटी मनीषा (25), बहू सविता (27) और पौत्री मीनाक्षी (2) शामिल है। पुलिस को पौत्री साक्षी (5) घायल मिली  जो कि काफी दहशत में है। बच्ची को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं, पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करने के लिए सात टीमें गठित कर दी है।

गांव में फोर्स तैनात

ग्रामीणों ने बताया कि सुबह गांव वालों को घर से धुआं उठता दिखा, काफी देर तक कोई बाहर नहीं आया। शक होने पर कुछ लोग अंदर गए तो परिवार के पांच लोगों की लाशे पड़ी थीं। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। गांव में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात किया गया है ताकि किसी प्रकार की कोई घटना न हो सके। 

लूट के बाद हत्या की आशंका

एडीसी प्रयागराज जोन प्रेम प्रकाश का कहना है कि शुरुआती जांच में वारदात लूट के इरादे से की गई है। माना जा रहा है कि सबूत मिटाने के लिए घर को आग के हवाले कर दिया है। पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है। पोस्टमार्टम के बाद ही कुछ स्पष्ट तौर पर कहा जा सकेगा। 


   

अखिलेश यादव और मायावती ने सरकार को घेरा

बसपा अध्यक्ष मायावती ने भी ट्वीट कर इस घटना की निंदा की है। उन्होंने कहा कि यूपी के प्रयागराज में ही एक ही परिवार के 5 लोगों की निर्मम हत्या की खबर अति-दुःखद, निन्दनीय और चिन्ताजनक है। सरकार घटना की तह में जाकर दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई सुनिश्चित करे। वहीं, सपा के मुखिया अखिलेश यादव ने भी ट्वीट किया है कि बीजेपी 2.0 में यूपी अपराध में डूब गया है। 

   

पूरी स्टोरी पढ़िए