पुलिस को खुलेआम चुनौती दे रहे बदमाश।

प्रयागराज। सगंमनगरी में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। बदमाश खुलेआम पुलिस को चुनौती दे रहे हैं। पिछले दिनों जिले के गंगापार में हुई पांच लोगों की नृशंस हत्या की गुत्थी अभी सुलझी नहीं थी कि एक बार फिर दिनदहाड़े बीजेपी नेता के भाई की हत्या कर दी गई। वहीं, इस घटना के बाद पुलिस के सामने आरोपियों को पकड़ने की कड़ी चुनौती है।

दरअसल, नैनी थाना क्षेत्र के बड़ा चाका के रहने वाले सुरेश सिंह बच्चन गुरुवार को दोपहर गंगोत्री नगर पुलिस चौकी के पास स्थित स्कूल में बच्चों को लेने आए थे। स्कूल की छुट्टी में कुछ वक्त बाकी था। जिसके कारण वह बाइक पर बैठकर बच्चों का इंतजार कर रहे थे। उसी समय दो बाइक सवार पांच युवकों ने उनपर गोलियां बरसा दीं। जिससे उनकी मौक पर ही मौत हो गई। घटना से इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना पर नैनी पुलिस के साथ सीओ करछना, एसपी यमुनापार भी मौके पर पहुंचे और छानबीन की। बताया गया है कि मृतक बीजेपी बूथ अध्यक्ष का बड़ा भाई है। 

रंजिश के तहत की गई हत्या

पुलिस का कहना है कि जब सुरेश स्कूल के बाहर अपने बच्चों का इंतजार कर रहे थे। उसी वक्त घटना को अंजाम दिया गया। दो बाइक सवार पांच युवकों ने उनपर तमंचे से फायर कर दिया। जब तक कोई कुछ समझ पाता। तबतक देर हो चुकी थी। सुरेश ने मौके पर दम तोड़ दिया। वहीं, कहा जा रहा है कि इस वारदात को पुरानी रंजिश के तहत अंजाम दिया है। एक गोली बृजेश के सिर के पार हो गई। वहीं, घटना के बाद से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। एसपी यमुनापार सौरभ दीक्षित सीओ करछना राजेश यादव इंस्पेक्टर नैनी के पी सिंह मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल शुरू की। घटनास्थल के पास पांच कारतूस वह 100 मीटर दूर एक कारतूस बरामद हुआ। 

बीजेपी की जीत पर हुआ था विवाद

घटना की सूचना मिलते ही परिवारवालों में कोहराम मच गया। मृतक के छोटे भाई अजीत सिंह ने बताया कि दीपू शर्मा नाम के एक व्यक्ति से उसकी पुरानी रंजिश चल रही है। उसी ने घटना को अंजाम दिया है। बताया कि बीजेपी की सरकार बनने पर उनके परिवार ने पटाखे फोड़े थे। जिसको लेकर दीपू शर्मा व उसके परिवार वालों में विवाद हुआ था। मामले में पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर लगातार दबिश दे रही है। पुलिस का कहना है जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पूरी स्टोरी पढ़िए