छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर की हत्या के मामले में पहलवान सुशील कुमार पुलिस कस्टडी में है।

नई दिल्ली. छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर की हत्या के मामले में पहलवान सुशील कुमार पुलिस कस्टडी में हैं। पुलिस उससे इस केस से जुड़े कई राजों से पर्दा हटाने की कोशिश में लगी है। पहले हत्या की वजह मकान के किराए को लेकर बताई जा रही थी। लेकिन अब जो खुलासा हुआ है, उससे पता चलता है कि सुशील कुमार ने एक गैंगस्टर की मदद से दूसरे गैंगस्टर से बैर लेते हुए इस कांड को अंजाम दिया। जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि सागर की हत्या के बाद लगातार फ्लैट के किराए को लेकर बात की जा रही थी, लेकिन सागर की हत्या की वजह फ्लैट पर कब्जा लेने और उसे सबक सिखाने की थी।


बदमाशों व पीड़ितों के बीच कराता था मध्यस्थता

पुलिस सूत्रों का कहना है कि सुशील की गैंगस्टर संदीप उर्फ काला जठेड़ी व लारेंस विश्नोई से नजदीकियां थीं। सुशील इन गैंगस्टरों के साथ मिलकर विवादित प्रॉपर्टी के सौदे करने के अलावा रंगदारी के मामलों में बदमाशों व पीड़ितों के बीच मध्यस्थता करने लगा था। मॉडल टाउन का विवादित फ्लैट भी सुशील ने काला जठेड़ी के साथ मिलकर दो कारोबारी भाइयों से औने-पौने दाम में लिया था। इस फ्लैट में काला जठेड़ी का भी हिस्सा था। इसी वजह से सागर धनखड़ और काला जठेड़ी का करीबी रिश्तेदार सोनू महल इस फ्लैट में रह रहा था।


अकेले कब्जा चाहता था सुशील

सुशील फ्लैट पर अकेले ही कब्जा चाहता था। इसी वजह से उसने करीब दो माह पूर्व सागर व सोनू को फ्लैट से जबरन निकाल दिया था। इससे दुबई में बैठा जठेड़ी नाराज हो गया था। विवाद बढ़ने के बाद सागर ने खुलेआम सुशील को पहलवानों के बीच गालियां देना शुरू कर दिया था। कभी सुशील कुमार को अपना गुरु मानने वाला सागर खुलेआम उससे दुर्व्यवहार करने लगा था। मॉडल टाउन के एम-2 ब्लॉक स्थित उसी फ्लैट को लेकर दोनों के बीच कड़वाहट बढ़ गई थी, जिसके लिए सारा बवाल हुआ था। 


काला जठेड़ी के बाद बवानिया से बढ़ी नजदीकियां

काला जठेड़ी से अनबन होने के बाद सुशील ने जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर नीरज बवानिया और उसके साथी नवीन बाली से नजदीकियां बढ़ा ली। घटना वाले दिन चार मई की रात को सुशील ने सागर को सबक सिखाने की नियत से लड़कों को इकट्ठा किया। सूत्रों का कहना है कि इसके लिए नीरज बवानिया के बदमाशों को भी मौके पर बुलाया गया। देर रात को सभी कई गाड़ियों में सवार होकर मॉडल टाउन के फ्लैट पर पहुंचे। यहां इन लोगों को सागर धनखड़ को उठाना था। लेकिन सोनू ने इसका विरोध किया तो उसको भी ये लोग उठा लाए। 


घटना की जानकारी दुबई में बैठे काला जठेड़ी को लगी तो वह आग बबूला हो गया। पांच मई को फरार होने के दौरान सुशील ने जठेड़ी से संपर्क कर इस मामले को रफा-दफा करने की गुहार लगाई और सोनू से उसके खिलाफ बयान न देने के लिए कहा। लेकिन जठेड़ी ने सुशील से नाराजगी जाहिर करते हुए उसे देख लेने की धमकी दी। फरारी के दौरान सुशील ने काला जठेड़ी के नजदीकियों से संपर्क कर इस मामले में मध्यस्थता करने की भी गुहार लगाई। सूत्रों ने बताया कि अब सुशील को पुलिस के अलावा काला जठेड़ी से भी खतरा है। सुशील को लगता है कि जेल में जाने पर कहीं उस पर कोई हमला न हो।

पूरी स्टोरी पढ़िए