सीएम का ऐलान: साढ़े चार साल में नहीं हुआ एक भी दंगा।

लखनऊ। पहले की सरकारों में उत्तर प्रदेश दंगे की वजह से जाना जाता था। लेकिन, साढ़े चार सालों में प्रदेश में एक भी दंगे नहीं हुए। दंगा करने पर सात पीड़ियों तक को मुआवजा भरना पड़ेगा। यह बात उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में आयोजित पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में कही।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले साढ़े चार साल में एक भी दंगा नहीं हुआ है। पहले प्रदेश की पहचान ही दंगा थी क्योंकि सरकारें दंगाइयों को अश्रय देती थीं। दंगों से प्रदेश की जनता प्रताड़ित थी, झूठे मुकदमे दर्ज होते थे।

जो मूर्ति बनाता था, उसकी मूर्ति नहीं बिकती थी, जो दिया बनाता था उसके दिये तोड़ दिए जाते थे। उसके बाद पर्व-त्यौहार को अंधेरे में धकेल दिया जाता था लेकिन साढ़े चार वर्षों में देखा होगा कि उत्तर प्रदेश में एक भी दंगा नहीं हुआ।

उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ने दंगाइयों को पहले दिन से ही संदेश दे दिया था कि अगर दंगा करोगे तो अगली सात पीढ़ियों का पट्टा लिखकर के जाना पड़ेगा, जो भरपाई करते रहेंगे। अब दंगा नहीं हो सकता प्रदेश में, प्रदेश में पर्व-त्यौहार खुशी से मनाया जा रहा है। 

विपक्ष ने किया सिर्फ अपने परिवार का विकास

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2014 में नारा लगा था सबका साथ सबका विकास उससे पहले जिन लोगों ने देश और राज्य में शासन किया था उनका नारा होता था सबका साथ लेकिन उनके परिवार का विकास। अपने परिवार के विकास के अलावा उन लोगों की समाज और राष्ट्र के प्रति कोई चिंता नहीं थी।

राज्य में बन रहे 42 लाख आवास

उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का सपना है कि आवास सबको मिले, बिजली सबको मिले। पीएम मोदी पिछले 7 साल से इसी पर काम कर रहे हैं। यूपी में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 42 लाख आवास बनाए जा रहे हैं। जिन लोगों के घर में शौचालय नहीं था, उनके लिए शौचालय की व्यवस्था की गई है। प्रदेश में दो करोड़ 61 लाख शौचालय बनाए जा चुके हैं। अब ग्रामीण क्षेत्रों में सामुदायिक शौचालय बनाने का काम हो रहा है।

दंगों में थी पिछली सरकारों की फितरत

सीएम योगी ने कहा कि जब पर्व और त्यौहार आते थे, जब कमाई करनी होती थी, जब आस्था का सम्मान करना होता था तब प्रदेश में कर्फ्यू लग जाता था, दंगे होते थे। पिछली सरकारों की फितरत दंगों में थी। वे दंगाइयों को आगे बढ़ाने का काम करते थे। 4.5 साल में यूपी में एक भी दंगा नहीं हुआ है।

पूरी स्टोरी पढ़िए