उत्तर प्रदेश के सभी हिंसा संभावित जिलों में सुरक्षा व्यवस्था के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में जुमे की नमाज के बाद प्रयागराज, हाथरस, फिरोजाबाद, सहारनपुर में हुई हिंसा में पुलिस ने 306 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश के बाद अब हिंसा वाले जिलों में स्थिति सामान्य है।  प्रयागराज हिंसा के मास्टरमाइंड जावेद अहमद पंप का घर जमींदोज कर दिया गया है। एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि जावेद के घर पर हुई बुलडोजर कार्रवाई अतिक्रमण अभियान के तहत प्रयागराज विकास प्राधिकरण की तरफ से की गई है। इस मामले का यूपी पुलिस से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को हुई हिंसा को देखते हुए भारी मात्रा में पुलिस फोर्स को तैनात किया गया था।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने 10 जून को प्रयागराज, हाथरस, मुरादाबाद, फिरोजाबाद और अंबेडकर नगर में हुए बवाल पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इसके बाद अब तक 306 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है, जहां प्रयागराज से 91, हाथरस से 51, सहारनपुर से 71, मुरादाबाद से 34, अंबेडकरनगर से 34, फिरोजाबाद से 15, अलीगढ़ से 6 और जालौन से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इन सभी पर पथराव करने, माहौल खराब करने और लोगों को भड़काने का आरोप है। इन बवाल करने वालों के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई लगातार जारी है। 

अब तक 306 गिरफ्तार

एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा की विवादित टिप्पणी पर जुमे की नमाज के बाद राज्य के कई शहरों में विरोध प्रदर्शन हुआ था, जिसके बाद 306 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए सीसीटीवी फुटेज को देखा जा रहा है।  

भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात 

जिलों में पीएसी, पुलिस बल के साथ रैपिड एक्शन फोर्स की टीमें भी मौके पर तैनात हैं। किसी भी तरह के धार्मिक उन्माद को फैलने से रोकने के लिए पुलिस ने कड़ा सुरक्षा घेरा तैयार किया है और धर्मगुरुओं से भी बातचीत चल रही है।  

पूरी स्टोरी पढ़िए