शाहरुख के प्री-बुकिंग ऐड की रिलीजिंग भी नहीं की जा रही है। आपको बता दें कि शाहरुख की स्पॉन्सरशिप डील्स में बायजूस सबसे बड़ा ब्रांड था।

डेली जनमत न्यूज डेस्क। ड्रग्स केस में फंसे आर्यन खान (aryan khan) की वजह से शाहरूख खान की कमाई पर भी असर पड़ा है। एनसीबी (ncb) की ओर से की गई पूछताछ में आर्यन खान ने चरस पीने की बात कबूल की है। वहीं, लर्निंग ऐप बायजूस ने बॉलीवुड एक्टर के सभी विज्ञापन पर रोक लगा दी है। इतना ही नहीं शाहरुख के प्री-बुकिंग ऐड की रिलीजिंग भी नहीं की जा रही है। आपको बता दें कि शाहरुख की स्पॉन्सरशिप डील्स में बायजूस सबसे बड़ा ब्रांड था। इस ब्रांड को एंडोर्स करने के बदले शाहरुख को सालाना 3 से 4 करोड़ रुपए मिलते थे। वे 2017 से कंपनी के ब्रांड एंबेसडर हैं। 

आर्यन का कबूलनामा

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आर्यन और अरबाज मर्चेंट ने पूछताछ के दौरान ड्रग्स लेने की बात कबूल की है। आर्यन ने कहा है कि वे चरस पीते हैं और क्रूज पार्टी के दौरान भी चरस लेने वाले थे। एनसीबी ने अदालत में दिए पंचनामे में बताया है कि तलाशी के दौरान अरबाज ने जूते से ड्रग्स का पाउच निकाल कर दिया था। अरबाज के पास से 6 ग्राम चरस बरामद हुई थी। पंचनामे के मुताबिक जांच अधिकारी ने आर्यन और अरबाज से पूछा कि क्या उनके पास किसी तरह की नारकोटिक्स ड्रग्स है? जवाब में दोनों ने प्रतिबंधित ड्रग्स होने की बात कबूल की। अरबाज ने एनसीबी अधिकारियों को बताया कि उसके जूतों में चरस है। इसके बाद अरबाज ने जूतों में रखे एक जिप लॉक पाउच को खुद ही निकाल कर दे दिया।

कंपनी पर उठ रहे थे सवाल

आर्यन की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया पर शाहरुख की ट्रोलिंग शुरू हो गई थी। लोगों ने ब्रांड्स को भी टारगेट करना शुरू कर दिया था, जिनका विज्ञापन शाहरुख करते हैं। सोशल मीडिया पर लोग बायजूस से सवाल पूछ रहे थे कि कंपनी शाहरुख को ब्रांड एंबेसडर बनाकर क्या संदेश दे रही है? क्या एक्टर अपने बेटे को यही सब सिखाते हैं। इसी के बाद कंपनी ने फैसला लेते हुए विज्ञापनों पर रोक लगाई है।

एनसीपी नेता ने एनसीबी पर लगाए आरोप

मुंबई रेव पार्टी मामले में एक बार फिर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी नेता नवाब मलिक मीडिया के सामने आए और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो पर कई गंभीर आरोप लगाए। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री मलिक ने शनिवार को कहा कि एनसीबी ने टारगेट करके क्रूज पर छापा मारा और 1300 लोगों में से सिर्फ 11 लोगों को हिरासत में लिया था। इन्हें पकड़ने के बाद  ऑफिस लाया गया और इसमें से आर्यन, अरबाज और मुनमुन समेत 8 को अपने पास रखते हुए बाकी 3 आरोपियों को जाने दिया गया। मलिक ने आरोप लगाया है कि जिन तीन लोगों को एनसीबी ने छोड़ा उनमें एक भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के पूर्व अध्यक्ष रह चुके मोहित कंबोज का साला ऋषभ सचदेवा भी है। इसको लेकर उन्होंने कुछ फोटो भी शेयर की हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए