छत पर चढ़ गए सिद्धू और एक दिन पहले ही काला झंडा लगाकर किसानों का समर्थन किया

नई दिल्ली: पंजाब के असंतुष्ट कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू भी किसानों के समर्थन में खुलकर उतर आए हैं| पंजाब के विधायक ने तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के समर्थन में पटियाला और अमृतसर के अपने आवास पर काला झंडा लगाया| आपको बता दें किसान नेताओं ने कृषि कानून के विरोध में 26 मई को काला दिवस मनाने का ऐलान किया है। 26 मई से पहले ही आंदोलन का समर्थन करते हुए सिद्धू ने पटियाला के घर पर काले झंडे लगाने के साथ ही सरकार के खिलाफ जमकर मोर्चा खोला। उन्होंने कहा कि पंजाब आज तीन काले कानूनों के खिलाफ लड़ रहा है। यह कानून, किसानों की आमदनी खत्म करने के लिए तैयार किया गया है। इस कानून को छोटे व्यापारियों और मजदूरों के पेट पर लात मारने के लिए लाया गया है, उन्होंने कहा कि इस कानून के खिलाफ पंजाब संघर्ष करेगा। 

भाकियू का काला दिवस 26 को

भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता 26 मई को काला दिवस मनाएंगे। भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बताया कि दिल्ली बार्डर पर किसानों के धरने के छह माह पूरे होने पर 26 मई को काला दिवस मनाकर केंद्र सरकार के निरंकुश शासन का विरोध करेंगे। उन्होंने किसानों से अपने गांव के मुख्य चैराहे पर शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन करने और घरों पर काला झंडा लगाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि किसान विरोधी नीतियों की मुखालफत करते हुए सरकार का पुतला भी दहन किया जाएगा।

पूरी स्टोरी पढ़िए