बोले- समझ जाएं किस ओर बह रही यूपी की हवा, यूपी की जनता परिवर्तन चाहती हैं।

UpElection2022: संजय राउत ने कहा-10 और मंत्री योगी सरकार से देंगे इस्तीफा ।Daily Janmat news ।।

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले सूबे की सरकार में मंत्रियों के इस्तीफे देने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। बता दें अभी तक बीजेपी से 14 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। विधायकोंं के इस्तीफा देने के साथ प्रदेश की राजनीति में वार पलटवार का दौर भी जारी है। ऐसे में शिवसेना सांसद संजय राउत ने बड़ा दावा किया है। उनका दावा है कि आने वाले दिनों में योगी केबिनेट से 10 और मंत्री इस्तीफा देंगे। उन्होंने आगे कहा कि मैने कल ही कहा था कि अभी इन इस्तीफों का आंकड़ा बढ़ेगा। आप खुद देख सकते हैं  कि योगी सरकार के 5 साल के कार्यकाल में लोग कितने दबाव के साथ काम रहे थे। योगी सरकार ने यूपी में एक काम नहीं किया, उन्होंने केवल प्रदेश में बड़े-बड़े इवेंट किए हैं, देश के जो सवाल थे वो वैसे के वैसे ही हैं, 80 प्रतिशत बनाम 20 प्रतिशत कहने से वोटों का ध्रुवीकरण किया जा सकता है, लेकिन इससे देश का विकास नहीं हो सकता है। अब यूपी की जनता परिवर्तन चाहती हैं। प्रदेश सरकार के मंत्री खुद सरकार का साथ नहीं दे रहें तो जनता क्या साथ देगी। अब आप खुद समझ लीजिए कि हवा किस ओर बह रही है । 

अभी तक 14 विधायक छोड़ चुके हैं बीजेपी का दामन 

विधानसभा चुनावों की तारीखों के ऐलान के बाद से विधायकों के दलबदल का खेल शुरु हो गया था। बता दें बीजेपी से सबसे पहले कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस्तीफा दिया था। स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद दारा सिंह चौहान और धर्म सिंह सैनी भी अपना इस्तीफा दे चुके हैं। 

इसके अलावा ब्रजेश प्रजापति, रोशन लाल वर्मा, भगवती सागर, मुकेश वर्मा, विनय शाक्य और बाला अवस्थी भी इस्तीफा दे चुके हैं । बीजेपी से अब तक कुल 14 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। इसके साथ ही सुल्तानपुर विधानसभा से बीजेपी सीताराम वर्मा के भी इस्तीफा देने और सपा में जाने की अटकलें लगाई जा रही थी, हालांकि सीताराम वर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इन अफवाहों को खारिज कर दिया है। 

यूपी विस चुनाव में शिवसेना भी मैदान में 

शिवसेना ने यह ऐलान किया है कि वह यूपी में 50 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। हालांकि शिवसेना का कहना है कि वह किसी भी पार्टी से गठबंधन नहीं करेगी और वह अकेले ही मैदान में उतरेगी। वहीं संजय राउत जल्द ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दौरे पर आने वाले हैं। उन्होंने कहा कि हम चाहते है यूपी की सत्ता में परिवर्तन हो, बता दें 2019 में महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के दौरान शिवसेना ने सीएम पद के लिए अपने सहयोगी दल बीजेपी से नाता तोड़ लिया था। बाद में उद्धव ठाकरे ने राकांपा और कांग्रेस के साथ गठबंधन कर सरकार बनायी थी।

पूरी स्टोरी पढ़िए