कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला समेत अन्य नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

नई दिल्ली। नेशनल हेराल्ड केस में ईडी के सवालों का जवाब देने लगातार दूसरे दिन राहुल गांधी एजेंसी के ऑफिस पहुंचे। इससे पहले वह कांग्रेस नेताओं के साथ पैदल मार्च करके ईडी मुख्यालय पहुंचे। इस दौरान कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला समेत अन्य नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है।  

प्रवर्तन निदेशालय में राहुल गांधी से सोमवार को करीब 10 घंटे की पूछताछ हुई। वह रात 11.10 बजे ईडी दफ्तर से घर के लिए रवाना हुए। इस दौरान ईडी दफ्तर के बाहर कांग्रेसियों की भीड़ लगी रही। सोमवार को राहुल से सुबह पहले राउंड में तीन घंटे तक ईडी ने सवाल पूछे। इसके बाद लंच ब्रेक के दौरान राहुल सोनिया गांधी से मिलने अस्पताल पहुंचे। यहां से एक बार फिर वे ईडी दफ्तर पहुंचे, जहां उनसे दूसरे दौर की पूछताछ हुई। वहीं मंगलवार को दूसरे दिन भी राहुल गांधी ईडी दफ्तर पूछताछ के लिए पहुंचे। इस बीच कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला, उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत समेत कई नेताओं को कांग्रेस दफ्तर के बाहर से पुलिस ने हिरासत में लिया है। वे सभी ईडी दफ्तर की ओर मार्च करने की कोशिश कर रहे थे। पुलिस ने कांग्रेस दफ्तर और ईडी मुख्यालय के आसपास धारा 144 लगा रखी है। 

बीजेपी सरकार पर साधा निशाना

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा कि हम कानून के गलत इस्तेमाल का विरोध कर रहे है। अगर ईडी कानून का पालन करता है, तो हमें कोई समस्या नहीं है, लेकिन ईडी कानून का पालन नहीं कर रही है। हम पूछ रहे हैं कि निर्धारित अपराध क्या है? इसका कोई जवाब नहीं है। उधर, सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी के खिलाफ ईडी की जांच उनकी आवाज दबाने की कोशिश है क्योंकि उन्होंने हमेशा मोदी सरकार से चीन द्वारा हमारे क्षेत्र पर कब्जा करने, महंगाई, ईधन की कीमतों में वृद्धि, बेरोजगारी, धार्मिक प्रतिशोध जैसे मुद्दों पर सवाल उठाए हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए