कांग्रेसियों का आरोप है कि सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद भी मामले में केंद्रीय मंत्री और उनके परिवार के खिलाफ उचित कार्रवाई नहीं की जा रही है।

डेली जनमत न्यूज डेस्क। लखीमपुर हिंसा मामले में बुधवार को राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने राष्ट्रपति भवन पहुंचा। कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने लखीमपुर हिंसा में आरोपी आशीष मिश्र के पिता व केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र को बर्खास्त किए जाने की मांग की है। कांग्रेसियों का आरोप है कि सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद भी मामले में केंद्रीय मंत्री और उनके परिवार के खिलाफ उचित कार्रवाई नहीं की जा रही है। कांग्रेस पार्टी का 7 सदस्यीय डेलीगेशन राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करने पहुंचा। डेलीगेशन में राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, गुलाम नबी आजाद, एके एंटोनी व मल्लिका अर्जुन खड़गे शामिल रहे।

मामले में शुरू से मंत्री मिश्र निशाने पर

 लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में 4 किसानों की मौत के बाद कांग्रेस लगातार अजय कुमार मिश्र टेनी की बर्खास्तगी को लेकर मांग कर रही है। राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि, “लखीमपुर खीरी में पीड़ित परिवारों कि मांग है कि जिसने भी उनके बेटे की हत्या की है, उसे सज़ा मिले।

कांग्रेस की नहीं, जनता की मांग

राहुल गांधी ने कहा कि, “हमने राष्ट्रपति को अवगत कराया कि, जिस व्यक्ति ने हत्या की उसके पिता देश के गृह राज्य मंत्री हैं। जब तक वह अपने पद पर हैं, तब तक न्याय नहीं मिलेगा। हमने सुप्रीम कोर्ट के दो मौजूदा जजों से भी इस मामले की जांच कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि, उनकी (केंद्रीय गृह राज्य मंत्री) बर्खास्तगी की मांग कांग्रेस की मांग नहीं है, हमारे साथियों की मांग नहीं है, यह जनता की मांग है और लखीमपुर के पीड़ित किसान परिवारों की मांग है।"

कांग्रेस ने पहले लिखा था खत

गौरतलब है कि कांग्रेस ने राष्ट्रपति भवन को पत्र लिखकर प्रेसिडेंट कोविंद से मिलने का समय मांगा था। पत्र में यह लिखा गया था कि लखीमपुर खीरी की हिंसा ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। अजय मिश्र टेनी ने खुली चुनौती की वजह से लखीमपुर खीरी में हिंसा का माहौल बना और थार जीप से किसानों को कुचल दिया गया। कांग्रेस में पत्र में यह भी कहा है कि वहां मौजूद किसानों का आरोप है कि अजय मिश्र के बेटे ने ही किसानों को जीप से कुचला था।

क्या है मामला

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया क्षेत्र में बीते तीन अक्टूबर को योगी सरकार में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव के दौरे के विरोध को लेकर भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। आशीष उर्फ मोनू को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

पूरी स्टोरी पढ़िए