प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति के अंगरक्षक दल में शामिल लोगों से भी मुलाकात की।

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रिटायरमेंट के लिए विराट को विदाई दी। विराट को अपनी विशिष्ट योग्यता और सेवा के लिए चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ कमेंडेशन मेडल दिया गया है। यह सम्मान विराट को उसकी सेवा के दौरान विशेष कार्य और अनुशासन के लिए दिया गया है।

परेड के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजपथ पर आए लोगों का अभिवादन किया। इस मौके पर मोदी ने राष्ट्रपति के अंगरक्षक दल में शामिल लोगों से भी मुलाकात की। इस दौरान उनकी मुलाकात बॉडीगार्ड घोड़े विराट से भी हुई। अंगरक्षक का यह घोड़ा गणतंत्र दिवस के मौके पर रिटायर हो रहा है। पीएम मोदी और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने रिटायरमेंट के लिए विराट को विदाई दी। इस दौरान हर कोई इस घोड़े की चर्चा कर रहा था। पीएम मोदी भी विराट की पीठ थपथपा रहे थे। विराट ने अपने कार्यकाल में कई राष्ट्रपतियों को सलामी दी थी। गणतंत्र दिवस समारोह समाप्त होने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने घोड़े विराट को विदाई दी। इस दौरान पीएम विराट को दुलारते हुए उसके बारे में बात करते नजर आए। उन्होंने वहां मौजूद जवानों से भी विराट के बारे में भी जानकारी ली। 

सबसे भरोसेमंद घोड़ा विराट

परेड के दौरान विराट को सबसे भरोसेमंद घोड़ा माना जाता है। हनोवेरियन नस्ल के घोड़े को 2003 में अंगरक्षक परिवार में शामिल किया गया था। उन्हें राष्ट्रपति के अंगरक्षक का चार्जर भी कहा जाता है। एक अधिकारी ने बताया कि विराट एक अनुशासित घोड़ा है और अपने निर्मित और आकार के लिए जाना जाता है। विराट ने 2021 में गणतंत्र दिवस परेड और बीटिंग द रिट्रीट समारोह के दौरान ज्यादा उम्र होने के बावजूद असाधारण रूप से अच्छा प्रदर्शन किया।

पूरी स्टोरी पढ़िए