जी न्यूज के एंकर रोहित रंजन की मुश्किलें बढ़ी ।

डेली जनमत न्यूज डेस्क । छत्तीसगढ़ पुलिस एंकर रोहित रंजन को नहीं पकड़ पाई । गिरफ्तार करने के लिए पहुंची रायपुर पुलिस की टीम के सामने ही चकमा देकर नोएडा पुलिस रोहित रंजन को ले गई । उसे गिरफ्तार किया गया और फिर जमानत दे दी गई । इसके बाद रोहित लापता है । रायपुर पुलिस ने रोहित को फरार घोषित कर दिया । रायपुर पुलिस जी-न्यूज चैनल के दफ्तर पहुंची और वहां रोहित के थाने में हाजिर होने का नोटिस चस्पा कर दिया । एक दिन पहले एंकर ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की बात आई थी, पर याचिका ही दायर नहीं की गई । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के बयान को भ्रामक बनाकर पेश करने के मामले में जी न्यूज के एंकर रोहित रंजन की मुश्किलें लगातार बढ़ रही है । रोहित रंजन केस में अब एफआईआर की कॉपी लेने को लेकर यूपी और छत्तीसगढ़ पुलिस के बीच तलवारें खिंच गईं है । 

तत्काल सुनवाई के लिए 'सुप्रीम' सुनवाई

वहीं, छत्तीसगढ़ की रायपुर पुलिस ने कहा है कि एंकर रोहित रंजन फरार है । एंकर रोहित रंजन ने अपने खिलाफ दर्ज कई प्राथमिकी को चुनौती दी है।  तत्काल सुनवाई की अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करने का निर्णय लिया है। छत्तीसगढ़ की पुलिस अब नोएडा के सेक्टर 20 थाने में दर्ज एफआईआर की कॉपी चाह रही है। ये एफआईआर मंगलवार को रोहित रंजन को नोएडा पुलिस द्वारा पूछताछ के लिए ले जाने से चंद मिनट पहले ही दर्ज की गई थी।

न्यूज चैनल के बाहर लगाया गया नोटिस 

एंकर रोहित रंजन केस में सुप्रीम कोर्ट में अजीबो-गरीब वाकया हो गया। छत्तीसगढ़ पुलिस नोएडा सेक्टर–16A में मौजूद फिल्म सिटी में जी-मीडिया हाउस पहुंची। रायपुर पुलिस एंकर रोहित रंजन को ढूंढ रही है। रोहित की गिरफ्तारी के लिए 14 घंटे का हाई वोल्टेज ड्रामा चला । पुलिस ने मीडिया हाउस में अंदर जाकर अधिकृत अधिकारियों से इस बारे में बातचीत की है। रायपुर पुलिस के डीएसपी उद्यन बिहार ने बताया नोटिस चैनल के प्रोड्यूसर को देना चाहा । इसमें जो रायपुर पुलिस ने जानकारी मांगी कि विवादित शो में वीडियो क्लिप कहां से हासिल की गई। किसने कंटेंट तैयार किया, मगर इस नोटिस को लेने से न्यूज़ चैनल वालों ने इंकार कर दिया। ऐसे में रायपुर की पुलिस ने चैनल दफ्तर के बाहर ही इस नोटिस को चिपका दिया । फिलहाल रोहित रंजन फरार है ऐसे में अब रोहित रंजन को 7 दिन के भीतर रायपुर के सिविल लाइंस थाने में पेश होकर अपना पक्ष रखने का नोटिस जारी किया है।

पूरी स्टोरी पढ़िए