पीएफआई लंबे समय से कानपुर में सक्रिय।

#lucknow: टेरर फंडिंग को लेकर NIA की ताबड़तोड़ छापेमारी//DAILY JANMAT NEWS

कानपुर। पीएफआई फंडिंग में एनआईए ने यूपी के कई शहरों में छापेमारी की। वहीं, कानपुर में एनआईए ने पांच लोगों की तलाश में छापेमारी की जिसमें दो लोगों को बांसमंडी के बेबिस कंपाउंड से गिरफ्तार कर लिया है। साथी इनके परिवार वालों से गहन पूछताछ चल रही है। पीएफआई फंडिंग को लेकर एनआईए पिछले काफी समय से छापेमारी कर रही है। 

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया को आर्थिक मदद और संगठन को मजबूत करने वालों की तलाश में राष्ट्रीय जांच एजेंसी लगातार छापेमारी कर रही है। इस क्रम में पूरे देश में छापेमारी चल रही है मंगलवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी की टीम ने अनवरगंज थाना क्षेत्र के बांसमंडी इलाके में छापेमारी की है। सूत्रों की माने तो एनआईए ने यहां से 2 युवाओं को हिरासत में लिया और उन्हें लेकर चली गई। इसके अलावा टीम ने चमनगंज बाबू पुरवा और जाजमऊ क्षेत्रों में भी छापेमारी की है। इन तीनों क्षेत्रों मे रहने वाले 3 युवाओं की जांच एजेंसी को तलाश है।

पीएफआई लंबे समय से कानपुर में है सक्रिय

पापुलर फ्रंट आफ इंडिया लंबे समय से उत्तर प्रदेश में सक्रिय है पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बाद यह संगठन लखनऊ और कानपुर में सबसे ज्यादा सक्रिय है। कानपुर में संगठन के अधिवेशन भी हो चुके हैं। पिछले दिनों लगातार इस बात का दावा किया जा रहा था कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के तमाम लोग कानपुर में छुपे हुए हैं यही नहीं नागरिकता संशोधन कानून के दौरान हुए बवाल और 3 जून को हुई हिंसा में भी पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के लोगों का हाथ सामने आया था। 

पूरी स्टोरी पढ़िए