श्रेयस अय्यर की धमाकेदार पारी, बनाया रिकॉर्ड।

डेली जनमत न्यूज डेस्क। भारत और न्यूजीलैंड के बीच कानपुर में खेले जा रहे पहले टेस्ट के चौथे दिन का खेल समाप्त हो गया है। दिन की समाप्ति तक न्यूजीलैंड का स्कोर 1 विकेट के नुकसान पर 4 रन है। टॉम लाथम 2 और विलियम सोमरविले 0 पर नाबाद है। टीम इंडिया ने अपनी दूसरी पारी 234/7 के स्कोर पर घोषित की थी। भारतीय टीम 283 रनों की बढ़त बनाने में सफल रही और न्यूजीलैंड के सामने 284 रनों का टारगेट रखा। 

साहा ने दिखाया दम

कानपुर टेस्ट के तीसरे दिन ऋद्धिमान साहा गर्दन में खिंचाव के चलते विकेटकीपिंग करने नहीं आए थे, लेकिन आज उन्होंने बैटिंग की और 115 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया। अनुभवी खिलाड़ी का टेस्ट क्रिकेट में ये छठा और न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरा अर्धशतक रहा। उन्होंने 126 गेंदों पर नाबाद 61 रन बनाए।  आठवें विकेट के लिए साहा और अक्षर पटेल ने 124 गेंदों पर नाबाद 67 रन जोड़े। अक्षर पटेल ने 67 गेंदों पर नाबाद 28 रनों की पारी खेली।

अय्यर ने खेली रिकॉर्ड पारी

पहली पारी में 105 रन बनाने वाले श्रेयस अय्यर ने दूसरी पारी में भी अपनी कमाल की फॉर्म को जारी रखा और 109 गेंदों पर अपनी फिफ्टी पूरी की। इसके साथ ही अय्यर टेस्ट डेब्यू की दोनों पारियों 50 प्लस स्कोर बनाने वाले पहले भारतीय भी बन गए। अय्यर (65) साउदी की गेंद पर आउट हुए।

साहा-अय्यर की साझेदारी

49वां ओवर फेंक रहे विल सोमरविले की गेंद पर ऋद्धिमान साहा ने भारत की दूसरी पारी का पहला छक्का लगाया। ठीक इससे पहली गेंद पर साहा कैच आउट होने से बचे थे और गेंद फील्डर के हाथों से लगती हुई बाउंड्री पार गई थी। 7वें विकेट के लिए साहा और अय्यर ने 126 गेंदों पर 64 रन जोड़े।

अश्विन का अहम योगदान

छठे विकेट के लिए आर अश्विन ने श्रेयस अय्यर के साथ मिलकर भारतीय पारी को संभाला। दोनों ने 118 गेंदों पर 52 रन जोड़े। इस पार्टनरशिप को काइल जेमीसन ने अश्विन (32) को बोल्ड कर तोड़ा।

पुजारा ने डीआरएस पर गंवाया विकेट

चौथे दिन टीम इंडिया की शुरुआत खराब रही और दिन के शुरुआती आधे घंटे में ही चेतेश्वर पुजारा (22) जेमीसन की गेंद पर विकेटकीपर ब्लंडल को अपना कैच दे बैठे। ये विकेट कीवी टीम को क्त्ै पर मिला। दरअसल, जेमीसन ने गेंद लेग स्टंप के बाहर फेंकी थी और पुजारा उसे फाइन लेग पर खेलना चाहते थे, लेकिन गेंद विकेटकीपर टॉम ब्लंडल के पास पहुंची और उन्होंने जोरदार अपील की। अंपायर ने पुजारा को नॉटआउट दिया, लेकिन ब्लंडल ने कप्तान केन विलियम्सन को रिव्यू लेने के लिए कहा। रीप्ले में नजर आया कि बॉल पुजारा के गलव्स से लगकर विकेटकीपर के दस्तानों में पहुंची थी।

फैंस हुए निराश

पुजारा ने एक बार फिर से फैंस को निराश किया। बता दें कि उन्होंने पिछली 40 पारियों से शतक नहीं लगाया है। चेतश्वर पुजारा ने अपना आखिरी टेस्ट शतक 3 जनवरी 2019 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगाया था। इसके बाद 23 टेस्ट मैचों की 40 पारियों में उनका सबसे बढ़िया प्रदर्शन 91 रन रहा। इस बीच वे केवल 11 अर्धशतक बना सके।

पूरी स्टोरी पढ़िए