आंचल के पिता पर गंभीर आरोप लगे।

Kanpur : आंचल केस में SUPER EXCLUSIVE खुलासा, नौकरानियों के खुलासे से कहानी में ट्विस्ट | DJN |

कानपुर। नजीराबाद थाना (Nazirabad Police) क्षेत्र के अशोक नगर में सब्जी मसाला कारोबारी की पत्नी आंचल (Aanchal Case) की मौत के मामले में सूर्यांश की नौकरानियों ने नया सनसनीखेज खुलासा किया है। नौकरानियों ने डेली जनमत न्यूज से खास बातचीत के दौरान आंचल की मौत से जुड़े कई मामलों का पर्दाफाश किया है। नौकरानी ने दावा किया है कि घटना के बाद आंचल भाभी के पिता पवन ग्रोवर ने हम लोगों को मारकर झूठ बोलने के लिए मजबूर किया था। भाभी आंचल को सूर्यांश भैया नहीं मारते थे, बल्कि भाभी ही मारपीट व गालीगलौज करती थीं।

नामचीन कारोबारी सूर्यांश खरबंदा की पत्नी आंचल की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत का मामला उलझता ही जा रहा है। अब आरोपी सूर्यांश की नौकरानी ने सामने आकर कई खुलासे किए हैं। नौकरानी ने आरोप लगाया कि आंचल भाभी के पिता पवन ग्रोवर ने घटना के बाद घर आकर अपने पक्ष में बयान देने के लिए हम लोगों को पीटा था, जिस कारण दबाव बनाकर झूठ बुलवाया गया था। नौकरानी ने बताया कि सूर्यांश ने आंचल को कभी नहीं मारा था, बल्कि भाभी ही सूर्यांश भैया को झाड़ू और अलग-अलग चीजों से मारती रहती थीं, एक बार तो कांच से सूर्यांश भैया का हाथ तक काट दिया था। वो सभी को गाली बहुत देती थीं। जबकि सूर्यांश हम लोगों का ख्याल रखते थे। हम लोग इस घटना के बाद इतने डर गए थे कि झूठ बोलना पड़ा था। 

पहले भी फांसी लगाने का किया था प्रयास

दूसरी नौकरानी ने बताया कि 18 नवंबर की रात को भी आंचल ने फांसी लगाने का प्रयास किया था। क्योंकि उस दिन एक चुन्नी पंखे के कुंडे के सहारे लटकी मिली थी और चुन्नी फटी भी थी। जब पंखे से चुन्नी लटकने के बारे में पूछा तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने बताया कि पूरे घर में आंचल कुछ ढूंढ़ रही थीं और लगातार अपनी मम्मी से बात करती जा रही थीं। फिर किसी पंडित से बात करते हुए कहा था कि सूर्यांश और उसकी मम्मी को वापस घर भेज दो। मैं यहां रहना चाहती हूं, लेकिन ये लोग मुझे जबर्दस्ती घर से निकाल देना चाहते हैं। सूर्यांश का किसी के साथ चक्कर चल रहा है। शायद वो निकिता की दोस्त हो सकती है। 

आंचल की मानसिक स्थिति नहीं थी ठीक

वहीं नौकरानी का कहना है कि आंचल के फोन पर रिकॉर्डिंग होती थी। इस वजह से वह गार्ड का फोन लेकर अपने घरवालों से बात करती थी। नौकरानी ने आगे कहा कि वह खुद और हम लोगों को नहाने भी नहीं देती थीं। अपने बच्चे को भी एक हफ्ते तक नहीं नहलाया था। उन्हें लगता था कि हम बाथरूम जाएंगे तो सूर्यांश को आंचल की बातें बता देंगे। उनकी मानसिक स्थिति बिल्कुल भी सही नहीं लगती थी। उसने बताया कि जब आंचल ने बाथरूम का दरवाजा नहीं खोला तो सबसे पहले सूर्यांश को इसकी जानकारी दी। फिर गार्ड को जानकारी दी। इस दौरान आंचल के मां-बाप पुलिस लेकर आ गए। वो लोग मारपीट करते हुए हम लोगों पर ही दबाव बनाने लगे कि तुम लोगों ने ही मारकर आंचल को फंदे से लटका दिया या फिर सूर्यांश आया होगा। वो लोग पुलिस के सामने ही गाली-गलौज करने में जुटे थे।  

यह था मामला

अशोक नगर (Ashok Nagar) निवासी मसाला कारोबारी सूर्यांश खरबंदा की पत्नी आंचल का शव 19 नवंबर की रात घर के बाथरूम में फांसी के फंदे से लटकता मिला था। मामले में दहेज हत्या का केस दर्ज कर सूर्यांश और उसकी मां निशा को पुलिस जेल भेज चुकी है। मामले में पुलिस अन्य नामजद छह आरोपियों की भूमिका तलाश रही है। वहीं इस केस से जुड़े कई ऑडियो-वीडियो भी वायरल हो रहे हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए