मामले की सुनवाई 13 अक्टूबर को।

मुजफ्फरपुर। रामायण पर आधारित प्रभास और सैफ अली खान की फिल्‍म 'आदिपुरुष' पर विवाद बढ़ता जा रहा है। टीजर रिलीज के बाद से ही फिल्‍म को लेकर देश के अलग-अलग शहरों में व‍िरोध जताया जा रहा है।  अब इस फिल्म के निर्माता, निर्देशक, कलाकारों और निर्माता कम्पनियों टी-सीरीज और रेट्रोफाइल्स के खिलाफ मुजफ्फरपुर जिला उपभोक्ता आयोग में मुकदमा दर्ज किया गया है।

पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में फिल्‍म के विरोध में पुतले फूंके गए हैं। फिल्‍म को बैन किए जाने की मांग की जा रही है। 

अलग-अलग जगहों पर मुकदमा दर्ज 

वाल्मीकि रामायण की कहानी पर बनी फिल्‍म 'आदिपुरुष' के ख‍िलाफ नई दिल्‍ली में एक केस दर्ज करने की मांग की गई है। जबकि इसी बीच राम नगरी अयोध्या में फिल्म के डायरेक्‍टर ओम राऊत, राइटर मनोज मुंतश‍िर और सैफ अली खान के ख‍िलाफ मुकदमा दर्ज करने लिए तहरीर दी गई है। ये तहरीर बाबरी विध्वंस के आरोपी और हिंदूवादी नेता संतोष दुबे ने दी है। बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में भी उपभोक्‍ता आयोग में परिवाद दाख‍िल किया गया है। इसमें फिल्‍म के डायरेक्‍टर, राइटर और एक्‍टर्स के साथ ही फिल्‍म का निर्माण करने वाली कंपनी टी-सीरीज और रेट्रोफाइल्‍स के विरुद्ध केस दर्ज किया गया है। ये परिवाद जिले के भगवानपुर निवासी जगदीश सिंह ने दर्ज करवाया है।

मामले की सुनवाई 13 अक्टूबर को 

मामले की पैरवी मानवाधिकार अधिवक्ता एस. के. झा ने बताया कि हाल ही में फिल्म आदिपुरुष का टीजर जारी किया गया है, जिसमें वाल्मीकि रामायण के मूल का गलत चित्रण किया गया है। इसके अतिरिक्त भगवान राम, हनुमान एवं माता सीता को गलत तरीके से चित्रित किया गया है। साथ ही वाल्मीकि रामायण को धूमिल करने हेतु विरोधी पक्षकारों द्वारा भ्रामक विज्ञापन एवं गलत चित्रण का प्रसारण किया जा रहा है जो उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के खिलाफ है। इस मामले की सुनवाई 13 अक्टूबर को होगी। बता दें कि इस मामले के परिवादी ने कहा कि ऐसे कृत्य के लिए दंड मिलने के साथ ही जुर्माना भी लगाना चाहिए।

पूरी स्टोरी पढ़िए