एक ही परिवार के 6 लोगों की मौत।

कानपुर। कानपुर में शनिवार-रविवार की रात काली रात साबित हुई। घाटमपुर इलाके के साढ़-भीतरगांव मार्ग पर शनिवार रात हुए भीषण सड़क हादसे ने हर किसी को झकझोर कर रखा दिया। चारों ओर चीख पुकार मच गई। किसी घर से एक शख्स की मौत हुई तो किसी घर का आंगन 6 लाशों पर रो रहा था। भीषण हादसे में बहुत परिवारों ने अपनों को खो दिया।

ट्रैक्टर ट्रॉली के तालाब में पलटने से जहां 26 लोगों की मौत हुई तो वहीं उसी रात दूसरे बड़े सड़क हादसे में 6 लोगों की मौत की खबर है। ये सभी एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं। ये हादसा कानपुर के अहिरवां फ्लाई ओवर पर हुआ है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया है। 7-8 लोग घायल हो गए। सभी घायलों को हैलट अस्पताल में एडमिट कराया गया है।

6 घंटे में दूसरा बड़ा सड़क हादसा

मिल रही जानकारी के मुताबिक दूसरे सड़क हादसे में भी एक परिवार लोड़र से मुंडन संस्कार के लिए मिर्जापुर के विंध्याचल धाम जा रहा था। रात करीब 2 बजे रास्ते में ही ये हादसा हो गया। विंध्याचल जा रहे लोडर के अहिरवां फ्लाई ओवर पहुंचते ही एक तेज रफ्तार ट्रक ने उसे टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जोरदार थी कि लोडर के परखच्चे उड़ गए। इस मामले में डीएम विशाख जी अय्यर ने 5 लोगों के मौत की पुष्टि की। साथ ही उन्होंने बताया कि हादसे में 7 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं, जिन्हें बेहतर इलाज के लिए हैलेट अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। इलाज के दौरान एक और सदस्य ने दम तोड़ दिया।

सीएम पहुंचे हैलट हॉस्पिटल

घाटमपुर हादसा और अहिरवां फ्लाई ओवर हादसे के घायलों का हालचाल लेने के लिए यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ हैलट अस्पताल पहुंचे जहां उन्होंने मीडिया से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने कहा हमें हर हाल में इस जनहानि को रोकना होगा। लगभग 20 मिनट तक घायलों के इलाज और घटना में मृत परिजनों की स्थिति जानने के बाद उन्होंने गहरा दुख जताया और सड़क सुरक्षा को लेकर गंभीर नजर आए। दोनों हादसों में मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख मुआवजा दिए जाने का ऐलान किया। साथ ही सभी घायलों को 50-50 हजार रुपये देने की बात कही। लगभग आधा घंटा तक हैलट अस्पताल में ठहरने के बाद सीएम कोरथा गांव की ओर रवाना हो गए जहां के 26 लोगों की दुर्घटना में मौत हुई है।

पहला हादसा ट्रैक्टर ट्रॉली पलटने से

इससे पहले कानपुर में ही एक ट्रैक्टर-ट्रॉली के पलट जाने से 26 श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी। कुछ और लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक ये सभी नवरात्र के मौके पर उन्नाव के चंद्रिका देवी मंदिर से दर्शन करके कोरथा गांव लौट रहे थे। 

पूरी स्टोरी पढ़िए