पुलिस को ससुराल वालों द्वारा दहेज प्रताड़ना के सबूत मिले हैं।

Kanpur: आंचल कांड में खुलने लगी परतें, ससुरालियों के खिलाफ मिले पर्याप्त सबूत, देखिए पूरी जानकारी |

कानपुर। नजीराबाद थाना (Nazirabad Police) के अशोक नगर में रहने वाले कारोबारी सूर्यांश खरबंदा (Suryansh Kharbanda) की पत्नी आंचल की मौत के मामले में नया खुलासा हुआ है। पुलिस को ससुराल वालों द्वारा दहेज प्रताड़ना के सबूत मिले हैं। अब तक की गई जांच के आधार पर पुलिस का मानना ​​है कि आंचल को ससुराल में दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाता था। पुलिस जांच में परिवार वालों का शामिल होना भी साबित हो रहा है। हालांकि मामला हाईप्रोफाइल होने के कारण पुलिस साक्ष्यों की दोबारा से जांच करेगी।

दरअसल, पिछले दिनों आंचल का शव संदिग्ध परिस्थितियों में कुंडे के सहारे लटका मिला था। पोस्टमॉर्टम में विसरा को सुरक्षित रखा गया है। उधर, आंचल के माता-पिता का आरोप है कि दहेज की मांग को लेकर उनकी बेटी को ससुराल में प्रताड़ित किया जा रहा था। उनकी बेटी आत्महत्या नहीं कर सकती, उसकी हत्या कर दी गई है। ससुराल वालों ने पुलिस और राज्य महिला आयोग के सामने वीडियो और ऑडियो पेश किया और दावा किया कि आंचल से प्रताड़ित तो वो लोग थे। आंचल खुद उनके साथ मारपीट और गाली-गलौज करती थी।  

दहेज के लिए किया जा रहा था प्रताड़ित

पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने कहा कि अब तक मिले सबूतों से साफ है कि आंचल को ससुराल में दहेज के लिए प्रताड़ित किया जा रहा था। माता-पिता द्वारा दिए गए दहेज से संबंधित ऑडियो को जांच में शामिल कर लिया गया है। अब ऑडियो की फोरेंसिक जांच कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि वायरल ऑडियो और वीडियो में आंचल कई रिश्तेदारों का नाम ले रही है। यह रिश्तेदारों के खिलाफ सबूत हैं। फिलहाल दोबारा जांच के बाद ही रिश्तेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

इन सवालों के जवाब तलाशने में जुटी पुलिस

बताया जा रहा है कि जिस तरह से वीडियो और ऑडियो वायरल हो रहे हैं, उससे मामला और भी संदिग्ध होता जा रहा है। दूसरी तरफ बेटी और पिता की बातचीत की रिकार्डिंग कैसे दूसरे पक्ष तक पहुंची व वीडियो किस मकसद से बनाए गए। इन सभी सवालों के जवाब तलाशने में पुलिस जुटी हुई है।

पूरी स्टोरी पढ़िए