ATS स्पेशल कोर्ट ने तीनों संदिग्धों की पुलिस रिमांड की मंजूर।

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में सहारनपुर से पकड़े गए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी मोहम्मद नदीम को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। आतंकी मोहम्मद नदीम के मोबाइल से फिदायीन अटैक का पूरा ऑनलाइन कोर्स मिला है। इस ऑनलाइन कोर्स में विस्फोटक बनाने का पूरा तरीका दिया गया था। नदीम आरडीएक्स और डायनामाइट बनाने की ऑनलाइन ट्रेनिंग ले रहा था। इतना ही नहीं नदीम के मोबाइल सेलोन वुल्फ अटैक की ट्रेनिंग से जुड़े कुछ पन्ने भी मिले हैं।

बताया गया कि नदीम उदयपुर की तर्ज पर किसी आतंकी वारदात को अंजाम देना चाहता था। इसके लिए वह ऑनलाइन लोन वुल्फ अटैक की ट्रेनिंग ले रहा था, ताकि उत्तर प्रदेश में उदयपुर जैसी वारदात को अंजाम दे सके। ये ऑनलाइन कोर्स पाकिस्तान से जैश के हैंडलर ने भेजा था। नदीम के मोबाइल से 30 लोगों का एक व्हाट्सएप ग्रुप भी मिला है, जहां उसने ये ऑनलाइन कोर्स शेयर किया था। यानि वो अन्य लोगों को भी फिदायीन बनने की ट्रेनिंग दे रहा था।

बड़ी वारदात को अंजाम देने की प्लानिंग कर रहा था नदीम

यूपी एटीएस ने 15 अगस्त से पहले यूपी के सहारनपुर के कुंडा कलां गांव से मोहम्मद नदीम की गिरफ्तारी की थी। नदीम पर आरोप था कि वो तहरिक-ए-तालिबान और जैश के पाकिस्तान में बैठे कमांडर के इशारे पर बड़ी वारदात को अंजाम देने की प्लानिंग कर रहा है। साथ ही, पाकिस्तान में बैठे इसके हैंडलर ने नदीम को बीजेपी की पूर्व नेता नूपुर शर्मा की हत्या का आर्डर भी दिया हुआ था। इससे पहले की नदीम अपने मंसूबों में कामयाब होता, वह यूपी एटीएस के हत्थे चढ़ गया। बाद में एटीएस ने इनके हिंदुस्तान में मौजूद हैंडलर सैफुल्ला को भी गिरफ्तार कर लिया था।

संदिग्धों से पूछताछ करेगी यूपी एटीएस

जैश-ए-मोहम्मद के दोनों संदिग्ध सहारनपुर से गिरफ्तार नदीम और कानपुर से गिरफ्तार सैफुल्लाह को 10 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है। वहीं, आजमगढ़ से गिरफ्तार सबाउद्दीन को 12 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा गया है। यूपी एटीएस आज तीनों संदिग्धों से बारी-बारी से पूछताछ करेगी। यूपी एटीएस ने तीनों संदिग्धों की 14 दिन की पुलिस रिमांड मांगी थी। हालांकि अब एनआईए और एटीएस स्पेशल कोर्ट ने तीनों संदिग्धों की पुलिस रिमांड मंजूर कर दी है।

पूरी स्टोरी पढ़िए