राजस्थान के जयपुर के रहने वाले विजय सिंह मीणा 1996 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं।

IPS विजय सिंह मीणा ने संभाला कानपुर कमिश्नर का पदभार, कहा- शांतिपूर्वक चुनाव कराना प्राथमिकता

कानपुर। कानपुर में दूसरे पुलिस कमिश्नर के रूप में आईपीएस विजय सिंह मीणा ने शुक्रवार को कार्यभार संभाल लिया है। कार्यभार संभालते ही पुलिस कमिश्नर ने अपनी प्राथमिकताएं बताई हैं। कमिश्नर मीणा ने कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता शांतिपूर्ण ढंग से विधानसभा चुनाव संपन्न कराना होगी। कानपुर की घटना छोटी हो या बड़ी पुलिस के लिये महत्वपूर्ण है। किसी भी घटना पर लापरवाही या अनदेखी नहीं होनी चाहिए। हर छोटी से छोटी घटना पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। शहर की यातायात व्यवस्था में सुधार करने पर भी जोर दिया जाएगा।

पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा ने पत्रकारों से कहा कि मुझे जो जिम्मेदारी मिली है, उसका मैं और मेरी पूरी टीम ईमानदारी के साथ पालन करेगी। हमारी प्राथमिकताओं में सबसे पहले विधानसभा चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराना होगा। इसके लिए आपराधिक छवि वालों को सलाखों के पीछे भेजा जाएगा। साथ ही हमारी कोशिश होगी की कानपुर में क्राइम कम हो। कानून व्यवस्था को और बढ़िया बनाने के लिए हम स्मार्ट पुलिसिंग सिस्टम शुरू करेंगे। महिलाओं की सुरक्षा के प्रति हमारा फोकस ज्यादा होगा। साथ ही पूरी टीम जागरूक और ईमानदारी से काम करेगी। उनका कहना है कि अच्छे व्यवहार से ही पुलिस की छवि को चमकाया जा सकता है। 

कौन हैं कानपुर के पुलिस कमिश्नर

राजस्थान के जयपुर के रहने वाले विजय सिंह मीणा 1996 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। कानपुर पुलिस कमिश्नर बनने से पहले वह एडीजी सतर्कता के पद पर रह चुके हैं। उन्होंने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग से बीटेक की डिग्री हासिल की है। इसके बाद सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास की थी। पिछले साल जब वह आईजी वाराणसी थे तब उनका प्रमोशन हुआ था। इसके बाद वह सतर्कता विभाग चले गए थे। 

इन पदों पर रह चुके तैनात

एडीजी से पहले विजय सिंह मीणा आईजी जोन विंध्याचल, आईजी जोन बरेली और आईजी लोक शिकायत भी रह चुके हैं। इससे पहले वह डीआईजी आजमगढ़ और बरेली भी रह चुके हैं। इसके अलावा एसपी मुरादाबाद, आजमगढ़, फतेहपुर, कन्नौज, एटा, बुलंदशहर, भदोही और एसएसपी प्रयागराज के पद पर भी तैनात रहे हैं। 

कानपुर के पहले पुलिस कमिश्नर ने लिया वीआरएस

दरअसल, मार्च 2021 में कमिश्नरेट लागू होने के बाद असीम  अरुण को कानपुर का पहला पुलिस कमिश्नर बनाया गया था, लेकिन चुनाव आयोग द्वारा विधानसभा चुनाव के ऐलान होते ही उन्होंने वीआरएस लेने और बीजेपी से जुड़ने का ऐलान किया था। बताया जा रहा है कि आसिम अरुण बीजेपी के बैनर तले विधानसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए