न्यूजीलैंड भारत से 216 रन पीछे हैं।

कानपुर। भारत और न्यूजीलैंड के बीच कानपुर में खेले जा रहे पहले टेस्ट के दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक न्यूजीलैंड का स्कोर बिना किसी नुकसान के 129 रन हैं। कीवी ओपनर विल यंग 75 और टॉम लाथम 50 के स्कोर पर नाबाद हैं। इससे पहले टीम इंडिया अपनी पहली पारी में 345 रनों के स्कोर पर ऑलआउट हुई। न्यूजीलैंड फिलहाल भारत से 216 रन पीछे हैं। विल यंग ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अपने 5500 रन पूरे किए। विल ने 88 गेंदों पर टेस्ट क्रिकेट में अपनी दूसरी फिफ्टी पूरी की।

गजब का संयोग

साल 2012-13 में जब इंग्लैंड भारत के दौरे पर आया था, तब इंग्लैंड ने कोलकाता टेस्ट में भारत को पहली पारी में 350 रन के भीतर रोका था और फिर सलामी शतकीय साझेदारी (एलिस्टर कुक-निक कॉम्पटन 165 रन) कर भारत को हराया था। उस मैच में भी भारत ने टॉस जीता था। इस मैच में भी भारत ने टॉस जीता और पहली पारी में 350 के अंदर ऑलआउट हो गई। वहीं, न्यूजीलैंडके लिए टॉम लाथम और विल यंग 100 प्लस रन जोड़ चुके हैं।

डीआरएस पर बचे यंग

35वें ओवर की चौथी गेंद पर रवींद्र जडेजा ने विल यंग के खिलाफ डीआरएस की अपील की, जिसे अंपयार ने नॉटआउट दिया। कप्तान रहाणे ने डीआरएस लिया और रिप्ले में गेंद स्टंप की लाइन से बाहर नजर आई। विल यंग को 58 के स्कोर पर जीवनदान मिला और टीम इंडिया ने अपना पहला रिव्यू गंवाया।

345 प्लस  स्कोर के बाद कभी नहीं हारा भारत

टीम इंडिया 345 प्लस का स्कोर बनाने के बाद केवल एक बार घर में हारी है। 1998 में भारत ने बेंगलुरु टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए 400 रन बनाए थे। इस टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने इंडिया को 8 विकेट से हराया था। 345$ रन बनाने के बाद घर में भारत ने 32 टेस्ट जीते, 37 ड्रॉ हुए और सिर्फ एक टेस्ट हारा है।

3 बार डीआरएस पर बचे लाथम

तीसरे ओवर फेंक रहे इशांत शर्मा की तीसरी गेंद पर टॉम लाथम के खिलाफ अपील हुई और अंपायर नितीन मेनन ने उन्हें आउट करार दिया। लाथम ने डीआरएस लिया और रिप्ले में साफ नजर आया कि बॉल स्टंप की लाइन से बाहर जा रही थी। टॉम लाथम का रिव्यू लेने उनके और कीवी टीम के लिए फायदेमंद रहा।

14वें ओवर की आखिरी गेंद पर रवींद्र जडेजा ने लाथम के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की अपील की और एक बार फिर से अंपयार ने कीवी ओपनर को आउट दिया, लेकिन उन्होंने फिर डीआरएस लिया और रिप्ले में नजर आया कि गेंद पहले लाथम के बल्ले पर लगी थी, उसके बाद पैड पर।

56वें ओवर की आखिरी गेंद पर लाथम के खिलाफ अश्विन की गेंद पर विकेटकीपर कैच की अपील की गई और अंपायर ने फिर ने अपना हाथ खड़ा कर दिया। लाथम ने फिर से डीआरएस लिया और रिप्ले में नजर आया कि गेंद कीवी ओपनर के बल्ले से लगी ही नहीं थी और जो आवाज आई थी वो लाथम के बैट पर लगने की थी। इस तरह टॉम लाथम तीसरी बार क्त्ै के चलते आउट होने से बचे।

कुछ ऐसी रही भारतीय पारी

टीम इंडिया का पहला विकेट मयंक अग्रवाल के रूप में गिरा। मयंक 13 रन बनाकर काइल जेमीसन की गेंद पर विकेट के पीछे टॉम ब्लंडेल को कैच दे बैठे। दूसरे विकेट के लिए शुभमन गिल और चेतेश्वर पुजारा ने 133 गेंदों पर 61 रन जोड़े। जेमीसन ने गिल (52) को क्लीन बोल्ड कर न्यूजीलैंड को दूसरी कामयाबी दिलाई। भारत को तीसरा झटका टिम साउदी ने पुजारा (26) को आउट कर पहुंचाया। कप्तान रहाणे (35) का विकेट जेमीसन के खाते में आया।

दूसरे दिन टिम साउदी ने शानदार बॉलिंग करते हुए लंच तक भारत के 4 विकेट चटकाए। उन्होंने रवींद्र जडेजा (50), ऋद्धिमान साहा (1), श्रेयस अय्यर (105) और अक्षर पटेल (3) को आउट किया। आर अश्विन (38) का विकेट एजाज पटेल ने लिया। एजाज ने अपने अगले ही ओवर में इशांत शर्मा (0) को एलबीडब्ल्यू कर भारतीय पारी का समेटा।

अय्यर ने लगाया शतक

टेस्ट डेब्यू कर रहे श्रेयस अय्यर ने 157 गेंदों पर अपना यादगार शतक पूरा किया। पहले टेस्ट में शतक जड़ने वाले अय्यर भारत के 16वें और दुनिया के 112वें खिलाड़ी बने। साथ ही किसी भी भारतीय खिलाड़ी का न्यूजीलैंड के खिलाफ डेब्यू करते हुए ये तीसरा शतक रहा। अय्यर 171 गेंदों पर 105 रनों की बेहतरीन पारी खेलकर आउट हुए। श्रेयस का विकेट टिम साउदी के खाते में आया।

डेब्यू टेस्ट इनिंग्स में शतक लगाने वाले अय्यर 13वें भारतीय बने।

टेस्ट डेब्यू पर नंबर-5 या उससे नीचे शतक लगाने वाले अय्यर भारत के चौथे खिलाड़ी रहे।

2016 के बाद से घरेलू सरजमीं पर नंबर-5 पर शतक लगाने वाले अय्यर सिर्फ तीसरे भारतीय रहे।

ये रिकॉर्ड बनाने से चूक गए अय्यर

अगर टेस्ट डेब्यू के पहले ही दिन अय्यर अपना शतक पूरा कर लेते, तो वे ऐसा करने वाले तीसरे भारतीय बन जाते। श्रेयस अय्यर पहले दिन 75 रन बनाकर क्रीज पर थे। डेब्यू के पहले ही दिन शतक बनाने वाले भारतीयों में वीरेंद्र सहवाग और पृथ्वी शॉ का नाम है।

ये भी अनोखी बात

इंटरनेशनल क्रिकेट में ये भी कम ही देखने को मिलता है, जब दो विपक्षी खिलाड़ी एक मैच में खेल रहे हैं और दोनों का जन्म एक ही शहर में हुआ हो। श्रेयस अय्यर का जन्म मुंबई में हुआ है और न्यूजीलैंड के लेफ्ट आर्म स्पिनर अजाज पटेल भी मुंबई में ही जन्मे हैं। अगला टेस्ट मुंबई में है।

साउदी का पंजा

अनुभवी कीवी तेज गेंदबाज टिम साउदी ने शानदार बॉलिंग करते हुए 5 विकेट अपने नाम किए। दूसरे दिन उन्होंने रवींद्र जडेजा (50), ऋद्धिमान साहा (1), श्रेयस अय्यर (105) और अक्षर पटेल (3) को आउट किया। टेस्ट क्रिकेट में साउदी ने 13वीं और भारत के खिलाफ तीसरी बार एक पारी में 5 विकेट चटकाए।

जडेजा ने नहीं उठाया मिले मौका का फायदा

दूसरे दिन के पहले ही ओवर में न्यूजीलैंड ने जडेजा के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की अपील की जिसे अंपायर ने नकार दिया। कीवी टीम ने डीआरएस लिया और रिव्यू में नजर आया कि गेंद स्टंप की लाइन से ऊपर थी और जडेजा नॉटआउट रहे। हालांकि जडेजा इस जीवनदान का फायदा नहीं उठा सके और अगले ही ओवर में साउदी की गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने 112 गेंदों पर 50 रन बनाए। पहले दिन के खेल में कप्तान अजिंक्य रहाणे भी डीआरएस पर बचने के बाद अगली ही गेंद पर बोल्ड हो गए थे। भारत का छठा विकेट ऋद्धिमान साहा (1) के रूप में गिरा। आर अश्विन 55 गेंदों पर 38 रनों की पारी खेली

पूरी स्टोरी पढ़िए