टीम इंडिया 63 रनों से आगे।

'पंजा' मारकर अक्षर ने बनाए कई रिकॉर्ड, क्रिकेट प्रेमियों का दिखा JOSH HIGH | DAILY JANMAT NEWS |DJN|

कानपुर। भारत और न्यूजीलैंड के बीच कानपुर में खेले जा रहे पहले टेस्ट के तीसरे दिन का खेल समाप्त हो गया है। दिन की समाप्ति तक टीम इंडिया का स्कोर 14/1 रहा। मयंक अग्रवाल 4 और चेतेश्वर पुजारा 9 के स्कोर पर नाबाद है। इससे पहले अपनी पहली पारी में कीवी टीम 296 रनों के स्कोर पर ऑलआउट हुई थी। टीम इंडिया के पास फिलहाल 63 रनों की बढ़त है। 

फिर बोल्ड हुए गिल

दूसरी पारी में टीम इंडिया की खराब शुरुआत देखने को मिली। दूसरे ओवर की पहली ही गेंद पर काइल जेमीसन ने शुभमन गिल (1) को क्लीन बोल्ड कर दिया। पहली पारी में भी जेमीसन ने गिल को बोल्ड कर पवेलियन का रास्ता दिखाया था।

अश्विन ने तोड़ा अकरम का रिकॉर्ड

काइल जेमीसन 23 का विकेट आर अश्विन ने हासिल किया। कीवी टीम का आखिरी विकेट विलियम सोमरविले के रूप में गिरा और ये सफलता भी अश्विन ने भारत को दिलाई। जेमीसन के विकेट के साथ ही अश्विन (416) टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में पाकिस्तान के वसीम अकरम (414) से आगे निकल गए।

अक्षर ने की रिकॉर्ड्स की बारिश

अक्षर पटेल ने शानदार बॉलिंग करते हुए न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों को खूब परेशान किया। उन्होंने रॉस टेलर (11), हेनरी निकोल्स (2), टॉम लाथम (95), टॉम ब्लंडेल (13) और टिम साउदी (5) को आउट किया। साउदी का विकेट लेने के साथ ही अक्षर ने 5वीं बार एक पारी में 5 विकेट हॉल बनाया। इसके साथ ही पटेल ने लगातार छठी बार लिए एक पारी में 4 या उससे ज्यादा विकेट भी हासिल किए। इतना ही नहीं अक्षर पटेल भारत में टेस्ट क्रिकेट में एक कैलेंडर ईयर में पांच बार एक पारी में पांच विकेट लेने वाले बाएं हाथ के पहले स्पिनर बन गए हैं।

शतक नहीं पूरा कर सके लाथम

टॉम लाथम 95 रनों की शानदार पारी खेलकर अक्षर पटेल की गेंद पर आउट हुए। उनको विकेटकीपर केएस भरत ने स्टंप आउट किया। मैच के दूसरे दिन के खेल में लाथम को तीन बार जीवनदान मिला था और तीसरे दिन के खेल में भी वह अश्विन की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए थे, लेकिन अंपायर के गलत फैसले के चलते वह नॉटआउट रहे। चार बार मिले जीवनदाल के बाद भी वह अपना शतक पूरा नहीं कर सके और सिर्फ 5 रनों से अपना 12वां टेस्ट बनाने से चूक गए।

केन-रॉस हुए फेल

लंच से ठीक पहले उमेश यादव ने कीवी कप्तान केन विलियम्सन (18) को स्ठॅ आउट कर टीम इंडिया को दूसरी सफलता दिलाई। दूसरे विकेट के लिए केन और लाथम ने 117 गेंदों पर 46 रन जोड़े। र्छ का तीसरा विकेट अक्षर पटेल ने रॉस टेलर (11) कर हासिल किया। अक्षर ने अपने अगले ही ओवर में हेनरी निकोल्स (2) को स्ठॅ आउट किया। भारतीय टीम को छठी कामयाबी रवींद्र जडेजा ने टेस्ट डेब्यू कर रहे रचिन रवींद्र (13) को बोल्ड कर दिलाई।

अंपायर और अश्विन के बीच कहासुनी

77वें ओवर में मैदान पर आर अश्विन और अंपायर नितिन मेनन के बीच बहस देखने को मिली। अंपायर अश्विन को गेंदबाजी करने से रोक रहे थे। उनका कहना था कि अश्विन गेंदबाजी करते समय उनके सामने आ रहे हैं। वहीं, अश्विन का कहना था कि वो कोई नियम नहीं तोड़ रहे हैं। बवाल यहां तक पहुंच गया कि कप्तान रहाणे और कोच राहुल द्रविड़ को भी इस बहस के बीच में कूदना पड़ा। द्रविड़ मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ से इस बारे में बात करने गए।

एलबीडब्ल्यू अपील पर बचे लाथम

73वें ओवर की चौथी गेंद पर अश्विन ने लाथम के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की जोरदार अपील की, लेकिन अंपायर नितिन मेनन ने लाथम को नॉटआउट दिया। अश्विन विकेट को लेकर पूरी तरह से संतुष्ठ थे, लेकिन भारतीय टीम ने रिव्यू न लेने का निर्णय लिया। हालांकि बाद में बॉल ट्रैकिंग में साफ दिखा कि लाथम एलबीडब्ल्यू थे। भारत अगर रिव्यू ले लेता, तो लाथम पवेलियन में होते। अश्विन इसके बाद काफी गुस्से में भी नजर आए। बता दें कि दूसरे दिन के खेल में अंपायर ने लाथम को तीन बार आउट दिया हर बार वे नॉटआउट रहे। जब नॉट आउट दिया तो वे आउट थे।

डीआरएस पर मिला पहला विकेट

लंबे इंतजार के बाद आर अश्विन ने टीम इंडिया को पहला सफलता दिलाई। अश्विन ने 67वें ओवर की पहली गेंद पर विल यंग (89) का विकेट लिया। यंग अश्विन की नीची गेंद पर भरत के पीछे जाकर खेलने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन गेंद उनके बल्ले का किनारा लेते हुए केएस भरत के दस्तानों में पहुंची। टीम इंडिया ने अपील की, लेकिन अंपायर ने कीवी ओपनर को आउट नहीं दिया। इसके बाद विकेटकीपर केएस भरत के कहने पर रिव्यू लिया गया और अश्विन भी विकेट के लिए पूरे आश्वस्त नजर आए। रिप्ले में साफ नजर आया कि गेंद यंग के बल्ले का हल्का सा किनारा लेते हुए भरत के गलब्स में गई थी।

पूरी स्टोरी पढ़िए