टीम इंडिया के बल्लेबाजी पूरी तरह से फ्लाप रही, कीगन पीटरसन ने खेली शानदार पारी।

डेली जनमत न्यूज डेस्क । साउथ अफ्रीका में टीम इंडिया और साउथ अफ्रीका के बीच खेले जा रहे टेस्ट सीरीज के निर्णायक मैच में टीम इंडिया को करारी हार का सामना करना पड़ा है । बता दें केपटाउन में टेस्ट सीरीज के आखिरी और तीसरे मैच में मेजबान टीम साउथ अफ्रीका ने मैच के चौथे दिन ही टीम इंडिया को 7 विकेट से हराकर सीरीज अपने नाम कर ली। 2018 की तरह ही टीम इंडिया की फ्लाप बैटिंग ने मेजबान टीम को साउथ अफ्रीका में हराने के सपनो पर पानी फेर दिया। जहां सीरीज का पहला टेस्ट भारत के नाम रहा, लेकिन मेजबान टीम बचे दो मेचों को भारत के कब्जे से छीनकर ले गई। बता दें टीम इंडिया साउथ अफ्रीका में 30 साल से टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाई है। और इस बार भी भारत का जीत सपना अधूरा ही रह गया। 

212 रनों का दिया था टारगेट 

टीम इंडिया ने पहली पारी में साउथ अफ्रीका को 223 रन का लक्ष्य दिया था । जिसके जवाब में मेजबान टीम 210 रन में सिमट गई थी । इसके बाद दूसरी पारी में टीम इंडिया ने 198 रन बनाते हुए, 212 रनों का लक्ष्य दिया था। बता दें दूसरी पारी में लक्ष्य का पीछा करते हुए साउथ अफ्रीका के कीगन पीटरसन ने 82 रनों की शानदार पारी खेली और सीरीज टीम के नाम की। बता दें टेस्ट सीरीज का पहला मैच भारत ने 113 रन से जीता था । 

8वीं बार साउथ अफ्रीका में टेस्ट के दौरे पर टीम इंडिया 

आपको बता दें कि टीम इंडिया आठवीं बार टेस्ट सीरीज के लिए साउथ अफ्रीका गई थी। हालांकि टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने टीम की बागडोर संभाली लेकिन फिर भी टीम कोई भी कमाल नहीं दिखा पाई ।बता दें साउथ अफ्रीका में भारत का सबसे ज्यादा शानदार प्रदर्शन 2010-11 के दौरे पर था। तब टीम इंडिया की अगुवाई धोनी कर रहे थे । 

टीम इंडिया को जीत के लिए चाहिए थे 7 विकेट

मैच के तीसरे दिन भारत की बल्लेबाजी पूरी तरह से फ्लाप रही, ऋषभ पंत के जबरदस्त शतक के बावजूद भी टीम इंडिया केवल 198 रन पर ही सिमट गयी। साउथ अफ्रीका को 212 रनों का लक्ष्य मिला। मेजबान टीम ने महज तीन विकेट खोकर लक्ष्य को हासिल कर लिया ।  

30 साल का सूखा नहीं खत्म कर पाई टीम इंडिया 

टीम इंडिया को इस बार अफ्रीका में खेले टेस्ट सीरीज का प्रबल दावेदार माना जा रहा था। लेकिन सेंचुरियन टेस्ट में जीत हासिल करने के बाद भी टीम न तो जोहान्सबर्ग में कोई कमाल दिखा पाई और न ही केपटाउन में। बता दें टीम इंडिया ने 1992 में पहली बार अफ्रीका का दौरा किया था। पिछले तीस सालों में टीम एक बार भी टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाई है ।

पूरी स्टोरी पढ़िए