तहरीर के बाद दर्ज किया गया मुकदमा।

नई दिल्ली। ज्ञानवापी मामले के पैरोकार को भी पाकिस्तान से धमकी आनी शुरू हो गई है। केस के पैरोकार डॉ. सोहन लाल 1984 से कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं। उनको मोबाइल पर काल करके केस से हटने और मुकदमा वापस लेने की धमकी दी गई। फोन करने वाले ने उनको धमकी देते हुए कहा कि अगर मुकदमा वापस नहीं लिया तो तुम्हारा भी सिर तन से जुदा कर दिया जाएगा। जो हाल राजस्थान के कन्हैया का हुआ वही हाल तुम्हारा भी होगा।

डॉ. सोहन लाल आर्य की पत्नी लक्ष्मी देवी के नंबर पर भी कॉल कर धमकी दी गई है। बता दें कि मां श्रृंगार गौरी के नियमित दर्शन-पूजन और ज्ञानवापी परिसर में नियमित पूजा-अर्चना और सुरक्षा के लिए दिल्ली की राखी सिंह के अलावा वाराणसी की 4 महिला मंजू व्यास,सीता साहू,रेखा पाठक और लक्ष्मी देवी ने मुकदमा दाखिल किया है। 

पाकिस्तान से मिला धमकी भरा कॉल

19 मार्च 2022 को पाकिस्तान के नंबर से उनको कॉल आया था। इसके बाद 19 जुलाई 2022 को पाक के नंबर से धमकी भरा कॉल आया। गौर करने वाली बात यह है कि ये दोनों धमकी भरे कॉल 19 तारीख को ही किए गए थे। उन्होंने पाकिस्तान से धमकी भरा कॉल आने की सूचना वाराणसी के पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों को दे दी थी। अधिकारियों का कहना है कि डॉ. सोहन लाल आर्य की तहरीर के आधार पर लक्सा थाने में मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

पूरी स्टोरी पढ़िए