वाराणसी में ज्ञानवापी परिसर में चल रहे सर्वे के खिलाफ याचिका पर 17 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी।

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ज्ञानवापी परिसर में चल रहे सर्वे के खिलाफ याचिका पर 17 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और पीएस नरसिम्हा की बेंच मामले की सुनवाई करेगी। अंजुमन इंतजामिया मस्जिद की प्रबंधन समिति ने याचिका दायर की है। निचली अदालत द्वारा जारी सर्वे के आदेश को 1991 के प्लेसेस ऑफ वर्शिप एक्ट के खिलाफ बताया है।  

दरअसल, इससे पहले 13 मई को सुप्रीम कोर्ट ने वाराणसी ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे तत्काल रोकने से इनकार करते हुए मामले को सूचीबद्ध करने पर सहमति जताई थी। वाराणसी कोर्ट के आदेश पर ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे शनिवार से शुरू हुआ था, जो सोमवार को पूरा हो गया है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट से याचिका पर सुनवाई के क्रम में क्या आदेश आता है, यह देखना होगा। माना जा रहा है कि अंजुमन इंतेजामिया कमेटी सुप्रीम कोर्ट में वाराणसी कोर्ट की ओर से एडवोकेट कमिश्नर की अगुआई वाली 52 सदस्यीय कमेटी की जांच रिपोर्ट को सार्वजनिक करने से रोक लगाने की मांग कर सकती है।

हिंदू पक्ष पहुंचा कोर्ट 

शिवलिंग मिलने के दावे को लेकर हिंदू पक्ष कोर्ट पहुंच गया है। कोर्ट ने आदेश दिया कि जिस स्थान पर शिवलिंग मिला है उसे तत्काल प्रभाव से सील कर दिया जाए। साथ ही उस स्थान पर किसी के भी प्रवेश पर रोक लगनी चाहिए। उधर, हिंदू पक्ष वज्जू खाने को कोर्ट में रिपोर्ट पेश होने तक सुरक्षित रखने की तैयारी कर रहा है।

पूरी स्टोरी पढ़िए