यह वही फोन था जिससे कसाब पाकिस्तान से निर्देश पा रहा था। पठान ने चार पन्नों की एक शिकायत मुंबई के मौजूदा पुलिस कमिश्नर को भेजी है।

डेली जनमत न्यूज डेस्क। महाराष्ट्र पुलिस के रिटायर्ड एसीपी शमशेर खान पठान ने मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह पर आतंकियों की मदद के आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि  परमबीर ने 26/11 के सबसे बड़े गुनहगार अजमल आमिर कसाब के पास से मिले फोन को अपने पास रख लिया था और उसे कभी जांच अधिकारियों को नहीं सौंपा। यह वही फोन था जिससे कसाब पाकिस्तान से निर्देश पा रहा था।  पठान ने चार पन्नों की एक शिकायत मुंबई के मौजूदा पुलिस कमिश्नर को भेजी है। गौरतलब है कि लंबे समय से परमबीर सिंह पुलिस की नजरों से बचते फिर रहे हैं। उनके घर जल्द हाजिर होने का नोटिस चस्पा कर दिया गया है।

गिरगांव चौपाटी में पकड़ा गया था कसाब

पठान ने बताया कि 26/11 के दिन अजमल आमिर कसाब को गिरगांव चौपाटी इलाके में पकड़ा गया था। इसकी जानकारी जब मुझे हुई तो मैंने अपने साथी एनआर माली से फोन पर बात की। बातचीत के दौरान माली ने मुझे बताया कि अजमल कसाब के पास से एक मोबाइल फोन भी बरामद हुआ है। साथ ही उन्होंने मुझे बताया कि यहां पर कई बड़े अधिकारी आए हुए हैं, जिसमें परमबीर सिंह भी हैं। माली के मुताबिक, यह फोन कॉन्स्टेबल कांबले के पास था और उससे परमबीर सिंह ने लेकर अपने पास रख लिया था।

फोन बरामदगी की बात कभी सामने नहीं आई

पठान ने आगे बताया कि आतंकी हमले के कुछ दिन बाद मैंने फिर से सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर माली से बात की थी और उन्होंने मुझे बताया कि उन्होंने इस बाबत मुंबई दक्षिण क्षेत्र के आयुक्त वेंकटेशम से मुलाकात कर उनसे परमबीर से वह फोन लेने और उसे संबंधित जांच अधिकारी को जांच के लिए देने को कहा था। पठान ने आगे कहा कि मैं इस केस का हिस्सा नहीं था, इसलिए मैंने इस केस में ज्यादा फॉलोअप नहीं लिया। हालांकि, यह बात सभी की जानकारी में है कि कसाब के पास से किसी भी फोन के बरामद होने की जानकारी किसी भी अदालत या जांच एजेंसी के सामने नहीं आई।

  • ये लगे गंभीर आरोप
  •  सिर्फ कसाब ही नहीं परमबीर ने कुछ अन्य आतंकियों और उनके हैंडलर्स की भी मदद की थी
  •  परमबीर ने कई मामलों में उनके खिलाफ सबूत भी मिटाए
  • परमबीर से इस सबूत को क्राइम ब्रांच को सौंपने को भी कहा था, लेकिन परमबीर उलटे भड़क गए
  • इस घटना की जानकारी कमिश्नर वेंकेटेशम को दिए जाने के बावजूद उन्होंने इस पर कोई एक्शन नहीं लिया था

पूरी स्टोरी पढ़िए