बताया जा रहा है कि उमर मुश्ताक खांडे बघाट, श्रीनगर और कई आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने के साथ ही दो पुलिस कर्मियों की हत्या में भी शामिल था।

डेली जनमत न्यूज डेस्क। जम्मू-कश्मीर (jammu kashmir) में आतंक पर पुलिस और सेना का प्रहार लगातार जारी है। इसी कड़ी में पुलवामा में एक बार फिर मुठभेड़ शुरू हो गई है। ये मुठभेड़ पंपोर इलाके में हो रही है। इस मुठभेड़ में  सुरक्षाबलों ने लश्कर कमांडर उमर मुश्ताक खांडे को घेर दिया है। कश्मीर जोन पुलिस (kashmir zone police) के अनुसार, जम्मू-कश्मीर के पंपोर के द्रंगबल इलाके में  यह मुठभेड़ हुई। बताया जा रहा है कि उमर मुश्ताक खांडे बघाट, श्रीनगर और कई आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने के साथ ही दो पुलिस कर्मियों की हत्या में भी शामिल था। इसी साल फरवरी में मुश्ताक ने साकिब के मिलकर पुलिसकर्मियों को निशाना बनाया था।

पुलवामा और श्रीनगर में मुठभेड़ 

इसके अलावा पुलवामा और श्रीनगर जिलों में हुई अलग-अलग मुठभेड़ के दौरान मार गिराया गया। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने ट्वीट किया, ‘हाल में एक केमिस्ट और दो शिक्षकों (सुपिंदर कौल और दीपक चंद) की हत्या में संलिप्त रहे दो आतंकवादियों शाहिद और तनजील को आज अलग-अलग मुठभेड़ में मारा गिराया गया। 

शांतिपूर्ण माहौल बिगाड़ने की कोशिश

जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि पाकिस्तान प्रायोजित तत्व इस केन्द्र शासित प्रदेश में बन रहे शांतिपूर्ण माहौल को बिगाड़ने और सामान्य जनजीवन को अस्त-व्यस्त करने के प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने सुरक्षा स्थिति तथा आतंकवादियों एवं सीमापार के उनके आकाओं के विध्वंसक कृत्यों से निपटने के लिए सामूहिक उपायों पर बल दिया। उन्होंने अधिकारियों से जम्मू कश्मीर में शांति एवं व्यवस्था बनाये रखने के लिए अर्धसैनिक बलों के साथ तालमेल कायम करते हुए प्रभावी उपाय करने पर बल दिया।

200 हत्या का लक्ष्य

जम्मू-कश्मीर में कश्मीरी पंडितों और गैर-मुस्लिमों पर हाल में हुए हमलों के पीछे आईएसआई का सुनियोजित षडयंत्र है। माना जा रहा है कि एक बड़ी साजिश कश्मीर में बड़े पैमाने पर अस्थिरता के लिए रची गई है। इसके तहत ही करीब 200 लोगों को लक्ष्य बनाकर हत्या (टारगेट किलिंग) करने की तैयारी थी। सेना और सुरक्षाबलों द्वारा आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे जबरदस्त ऑपरेशन के बावजूद पाकिस्तान की ओर से आतंकी गुटों को लगातार शह मिल रही है। घुसपैठ के जरिये नए आतंकी भेजने का प्रयास भी जारी है।

कश्मीरी पंडित और गैर मुस्लिम हैं निशाना

खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, आईएसआई ने आतंकी संगठनों को जम्मू-कश्मीर में हमले तेज करने को कहा है। खासतौर पर कश्मीरी पंडितों और गैर-मुस्लिमों को निशाना बनाने को कहा गया है। आईएसआई ने बड़ी संख्या में आतंकियों को जम्मू-कश्मीर में लॉन्च करने की साजिश भी रची है। साथ ही टारगेट किलिंग बढ़ाने को कहा है। साजिश के तहत आम कश्मीरी पंडित, गैर मुस्लिम व पुलिस, सुरक्षाबलों और खुफिया विभाग में काम कर रहे कश्मीरियों पर हमले करने को कहा गया है। गैर-कश्मीरी लोगों और भाजपा-आरएसएस से जुड़े लोगों को भी निशाना बनाने को कहा गया है।

पूरी स्टोरी पढ़िए