पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा, आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए बनाई छह टीमें।

अलवर। राजस्थान के अलवर में एक दिलदहला देने वाली वारदात सामने आई है। यहां दरिंदों ने दिव्यांग नाबालिग के साथ गैंगरेप किया। इसके बाद मारने की नियत से उसे फ्लाईओवर से फेंक दिया। लहूलुहान हालात में पड़ी गूंगी गुड़िया को देख स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां राजस्थान की निर्भया की हालत गंभीर बनी हुई है।

तब जाकर पता चला कि बच्ची मूक-बधिर

मामला अलवर के तिजारा फाटक का है। यहां दरिंदों ने एक दिव्यांग को बंधक बना लिया और गैंगरेप की वारदात को अंजाम दे डाला। आरोपियों ने गुड़िया को फ्लाईओवर से फेंक दिया। लहूलुहान नाबालिग चिल्ला भी नहीं सकी। जब उसे अस्पताल ले गए तो डॉक्टरों ने जांच की। तब जाकर पता चला कि बच्ची मूक-बधिर है। पुलिस दरिंदों की तलाश में जुटी है। सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। पुलिस की तीन टीम बदमाशों की तलाश में लगी हैं।

कार में सवार थे आरोपी 

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कार सवार लोगों ने नाबालिग को फ्लाईओवर से फेंका है। इसके बाद लोगों ने पुलिस को फोन किया। पुलिस का मानना है कि मालाखेड़ा के पास धवाला से नाबालिग का अपहरण किया गया। इसके बाद बदमाश उसे सुनसान जगह लेकर गए। गैंगरेप के बाद नाबालिग की हालत बिगड़ी तो उसे फेंककर फरार हो गए। 

7 डॉक्टरों की टीम बच्ची का इलाज कर रही

जेके लोन अस्पताल के अधीक्षक डॉ. अरविंद शुक्ला ने बताया कि 7 डॉक्टरों की टीम बच्ची का इलाज कर रही है। बच्ची को शॉर्प ऑब्जेक्ट से बुरी तरह घायल किया गया है। मामले पर एसपी तेजस्वनी गौतम ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छह टीम बनाई गई हैं। सीसीटीवी फुटेज के साथ मोबाइल खंगाले जा रहे हैं। जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

छात्राओं ने किया विरोध-प्रदर्शन

नाबालिग से गैंगरेप के बाद अलवर सहित कई अन्य शहरों में छात्राएं सड़क पर उतरीं और राजस्थान सरकार और पुलिस के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया। छात्राओं का कहना है कि, अलवर जिले में आए दिन गैंगरेप की घटनाएं सामने आती रही हैं। कुछ समय पहले थानागाजी में हुए गैंगरेप के मामला देशभर में उछला था। बावजूद पुलिस की तरफ से महिलाओं की सुरक्षा के लिए ठोस कदम नहीं उठाए गए

बीजेपी ने प्रियंका से पूछा सवाल 

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने इस जघन्य अपराध के बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पर हमला बोला है। पात्रा ने कहा है कि एक 15-16 साल की दिव्यांग लड़की के साथ अलवर, राजस्थान में दुर्व्यवहार हुआ है। एक गाड़ी खून से लथपथ उस लड़की को सड़क पर छोड़कर जाती है। उन्होंने कहा कि एक 15-16 साल की दिव्यांग लड़की के साथ अलवर, राजस्थान में दुर्व्यवहार हुआ है। एक गाड़ी खून से लथपथ उस लड़की को सड़क पर छोड़कर जाती है। आज वो बेटी आईसीयू में अपने जीवन से लड़ रही है। जब अलवर में ये घटना हो रही थी, तब प्रियंका वाड्रा रणथम्भोर में अपना जन्मदिन मना रही थीं।

पूरी स्टोरी पढ़िए