सोशलमीडिया पर हिंदुस्तान को लिखा ‘लिंचिस्तान’।

नई दिल्ली। बीजेपी से निलंबित नूपुर शर्मा के विरोध में जुमे की नमाज के बाद  अटाला में हुए उपद्रव के मास्टर माइंड मोहम्मद जावेद उर्फ पंप की बेटी आफरीन फातिमा दिल्ली में खासी सक्रिय है। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्र नेता रही आफरीन जेएनयू में पढ़ाई के दौरान शाहीन बाग आंदोलन में सक्रिय रही और वह कट्टरपंथी कही जाती हैं। सीएए और एनआरसी विरोधी शरजील इमाम की समर्थक आफरीन फातिमा की विचारधारा को समझने के लिए शायद इतना ही काफी होगा कि उसने अपने ट्विटर अकाउंट में देश का नाम हिंदुस्तान, भारत या इंडिया की बजाय अंग्रेजी अक्षरों में लिंचिस्तान लिख रखा है। हालांकि उसके ट्वीटर हैंडल को ट्विटर से वेरीफाइड नहीं किया गया है लेकिन उसके तमाम वीडियो इस पर मौजूद हैं। 

फेसबुक पर सरकार और राष्ट्र विरोधी चीजें करती है पोस्ट

हिंदुस्तान को लिंचिस्तान लिखने वाली आफरीन सरकार विरोधी बयानबाजी करती रही हैं। उसके ज्यादातर बयान सरकार के खिलाफ ही होते हैं। ट्विटर पर देश का नाम लिंचिस्तान लिखने वाली आफरीन फातिमा ने फेसबुक पर अपना पेज बना रखा है जिस पर उसने पता इलाहाबाद, इंडिया लिखा है जबकि जनपद का नाम बदलकर प्रयागराज किया जा चुका है लेकिन उसने इस मामले में भी सरकारी आदेश को नहीं माना और जिले का नाम इलाहाबाद ही लिखा है। फेसबुक पेज पर उसके फालोवर तकरीबन 35 हजार हो चुके हैं, जबकि ट्विटर हैंडल पर अपना नाम पता लिंचिस्तान लिखने वाले आफरीन के फालोवर 98 हजार से ज्यादा हैं। उसने मई 2018 में ही इस ट्विटर ज्वाइन किया। ट्विटर हैंडल और फेसबुक पेज को सरसरी निगाह से कुछ मिनट देखने पर ही पता चलता है कि वह आमतौर पर सरकार विरोधी कमेंट और पोस्ट करती है और उसके फालोवर भी उसके इसी विचारधारा वाले हैं। 

शाहीनबाग में धरने-प्रदर्शन को उकसाने में था प्रमुख हाथ

अटाला में उपद्रव के लिए आऱोपित जावेद पंप की दो बेटियों में बड़ी आफरीन दिल्ली में ही रहकर अपनी गतिविधियां संचालित करती है। रविवार को करेली के जेके आशियाना कालोनी में अवैध घर को पीडीए की ओर से ढहाए जाने के बाद से वह लगातार इसके खिलाफ बोल रही है। उसने विदेशी चैनल अल जजीरा को इंटरव्यू में भी घर गिराने के खिलाफ बोला है। ट्विटर पर वह वह लगातार कहती है कि सरकार मुस्लिम विरोधी है। उसने ट्विटर पर 18 फरवरी 2020 का 20 सेंकड का अपना वीडियो पिन कर रखा है जिसमें वह सरकार को मुस्लिम विरोधी करार देते हुए उसके खिलाफ लड़ाई छेड़ने की बात कर रही है। पिछले तीन दिन के दौरान उसने ट्विटर पर दो ट्वीट उर्दू में किए हैं उन पर भी हजारों लाइक आ रहे हैं। उर्दू पर सवाल इसलिए लगातार अंग्रेजी में पोस्ट और हिंदी में भाषण देने वाली आफरीन ने बवाल के बाद उर्दू में क्यों ट्वीट किए। खुफिया एजेंसियां जांच कर रही हैं।

घर में मिले पाकिस्तान समेत अरबी देशों के साहित्य और झंडे

घर ढहाने से पहले पुलिस-प्रशासन ने तलाशी ली तो अंदर अवैध हथियारों, तमंचों, चापड़ के अलावा पाकिस्तान समेत अरबी देशों के लेखकों की पुस्तकें और अन्य ऐसी सामग्रियां मिलीं हैं। जिससे अधिकारी भी अवाक हैं। कई झंडे और पर्चे मिले जिससे पुलिस अधिकारी मान रहे हैं कि जावेद और उसका परिवार विद्रोही तेवर अपना चुका है।

पूरी स्टोरी पढ़िए