तीन दिवसीय चिंतन शिविर में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के देशभर के 400 बड़े नेता शामिल हो रहे हैं।

डेली जनमत न्यूज डेस्क। राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस का तीन दिन का चिंतन शिविर की शुरुआत होने जा रही है। इसमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के देशभर के 400 बड़े नेता शामिल हो रहे हैं। इस चिंतन शिविर में पार्टी के आंतरिक मुद्दों पर चर्चा होगी, साथ ही अगले चुनावों को लेकर भी रणनीति तैयार की जाएगी।  

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के कई अन्य वरिष्ठ नेता शुक्रवार को उदयपुर पहुंचे, जहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। राहुल गांधी के आलावा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, वरिष्ठ नेता जयराम रमेश और कई अन्य नेता दिल्ली के सराय रोहिल्ला स्टेशन से ट्रेन पर सवार होकर उदयपुर पहुंचे। सभी नेता बस से होटल ताज अरावली के लिए रवाना हुए हैं। प्रियंका गांधी भी होटल पहुंच चुकी हैं। इस तीन दिवसीय चिंतन शिविर की शुरुआत कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संबोधन के साथ होगी। इसके बाद छह अलग-अलग समूहों में नेतागण चर्चा करेंगे और फिर इससे निकले निष्कर्ष को ‘नवसंकल्प’ के रूप में कांग्रेस कार्य समिति 15 मई को मंजूरी देगी। राहुल गांधी 15 मई को शिविर को संबोधित करेंगे।

इन मुद्दों पर होगा मंथन

दरअसल, इस चिंतन शिविर में कांग्रेस के भावी अध्यक्ष को लेकर भी तस्वीर साफ हो जाएगी, जिसके नेतृत्व में 2024 का लोकसभा चुनाव लड़ा जाएगा। हालांकि, कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव अगस्त-सितंबर महीने में होना है, लेकिन पार्टी के बड़े नेताओं ने  9 मई को हुई कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में ही राहुल गांधी से पार्टी का अध्यक्ष का पद संभालने की मांग शुरू कर दी थी। इस शिविर में जनता में विश्वास, नीतियां, संगठन और नेतृत्व पर कांग्रेस का ज्यादा फोकस रहेगा। 

सोनिया गांधी देंगी वेलकम स्पीच 

कांग्रेस के इस चिंतन शिविर में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण, किसानों के मुद्दों और आगामी चुनावों के लिए पार्टी को मजबूत करने पर चर्चा होगी। कांग्रेस से जुड़े सूत्रों का कहना है कि यह शिविर अब तक हुए आम शिविरों की तरह नहीं है। शिविर की शुरुआत दोपहर तीन बजे से ग्रुप डिस्कशन के साथ होगी। इससे पहले दोपहर 2 बजे सोनिया गांधी वेलकम स्पीच देंगी।

पूरी स्टोरी पढ़िए