दिग्विजय सिंह कल कांग्रेस अध्यक्ष पद का भरेंगे पर्चा।

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ करीब डेढ़ घंटे चली बैठक के बाद अशोक गहलोत ने साफ कहा कि वह अब पार्टी के अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे। सीएम गहलोत ने ये भी कहा कि मुख्यमंत्री बने रहना है या नहीं यह फैसला आलाकमान तय करेगा। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नें कहा, मैं कांग्रेस का वफादार सिपाही हूं, पूरे मामले पर सोनिया गांधी से खेद जताया है और ऐसे माहौल में मैं चुनाव नहीं लडूंगा।

सीएम गहलोत ने कहा कि मैंने सोनिया गांधी से बैठकर बातचीत की, जिस प्रकार से पिछले 50 सालों में कांग्रेस में इंदिरा गांधी के वक्त से राजीव गांधी और उनके बाद सोनिया गांधी के संग एक वफादार सिपाही के रूप में मैंने काम किया है। सोनिया गांधी के आशीर्वाद से मुझे सबकुछ मिला, मंत्री रहा मुख्यमंत्री बना, जो घटना हुई, उसने हिला कर रख दिया है और मुझे दुख है। देश में संदेश गया कि मैं सीएम बने रहना चाहता हूं। मुख्यमंत्री ने आगे कहा, मैंने सोनिया गांधी से माफी मांगी है, एक फैसला करते वक्त एक लाइन का प्रस्ताव पारित होता है। मैं उस प्रस्ताव को पारित नहीं कर पाया है, मुझे दुख रहेगा। 

गहलोत को फायदा हुआ या नुकसान

अब ये तय हो गया है कि सीएम गहलोत अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे। वह सीएम बने रहेंगे या नहीं, इसका फैसला भी आलाकमान लेगा। राजस्थान में जो भी घटनाक्रम बीते दिनों हुआ उससे ये तो साफ हो गया कि सीएम गहलोत को इससे फायदा हुआ है।

अध्यक्ष पद के लिए गांधी परिवार की थे पहली पसंद

कांग्रेस के अध्यक्ष के लिए राजनीतिक गलियारे में अशोक गहलोत को गांधी परिवार की पहली पसंद बताया गया है। लेकिन सभी ने एक बुनियादी गलती की। वे गहलोत से पूछना भूल गए कि क्या वह चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं। गहलोत हमेशा राजस्थान में रहने और राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में बने रहने में रुचि रखते थे। और गहलोत जो चाहते थे उसे बनाए रखने में कामयाब रहे और कुछ ऐसा त्याग दिया, जिसके लिए वह कभी उत्सुक नहीं थे। 

अब अध्यक्ष पद की रेस में दिग्विजय सिंह भी हुए शामिल

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने बृहस्पतिवार को पार्टी अध्यक्ष पद के चुनाव का नामांकन पत्र लिया और कहा कि वह संभवतः शुक्रवार को नामांकन दाखिल करेंगे। पार्टी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के कार्यालय से नामांकन पत्र लेने के बाद सिंह ने कहा, ‘नामांकन पत्र लेने आया हूं। संभवतः कल भरूंगा।’

पूरी स्टोरी पढ़िए