बैठक में आगामी चुनावों और संगठनात्मक स्तर पर बदलाव को लेकर चर्चा की संभावना है। ये बैठक आज नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में होगी।

CWC Meeting : कांग्रेस को जल्द मिलेगा नया अध्यक्ष | I Daily Janmat News I DJN |

डेली जनमत न्यूज डेस्क। कांग्रेस (congress) पार्टी में अध्यक्ष पद को लेकर लंबे समय से घमासान चल रहा है। पार्टी के अंदर ही कई बार अध्यक्ष पद के लिए चुनाव कराने की मांग की जा चुकी है। सोनिया गांधी (sonia gandhi) का अध्यक्ष पद का कार्यकाल समाप्त हो  चुका है। उन्हें अंतरिम प्रेसीडेंट बनाया गया है। कांग्रेस वर्किंग कमेटी की आज होने वाली बैठक में कांग्रेस  अध्यक्ष पद एक बड़ा मुद्दा होगा, जिस पर चर्चा के साथ कोई नतीजा निकाला जा सकता है।

संगठनात्मक स्तर पर बदलाव

 बैठक में आगामी चुनावों और संगठनात्मक स्तर पर बदलाव को लेकर चर्चा की संभावना है। ये बैठक आज नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में होगी। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के अनुसार, आगामी विधानसभा चुनाव के साथ-साथ संगठनात्मक चुनावों पर भी बैठक में चर्चा की जाएगी। जानकारी के मुताबिक, इस बैठक में पार्टी आलाकमान, कांग्रेस के तमाम वरिष्ठ नेताओं के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर विधानसभा में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखकर अपनी रणनीति तैयार करेगी। 18 महीनों बाद पहली बार ऑफलाइन होने वाली इस बैठक में वर्तमान राजनीतिक स्थिति पर भी चर्चा होगी। बैठक में यूपी के लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर आगे की रणनीति पर ध्यान केंद्रित रहने की संभावना है।

पार्टी नेता कर चुके हैं चुनाव की  मांग

 कांग्रेस में जी-23 ग्रुप के नेता चाहते हैं कि पार्टी में संगठनात्मक स्तर पर चुनाव हो और चुनाव के माध्यम से ही पार्टी के अध्यक्ष का भी चुनाव किया जाए। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के अंदर बवाल मचा हुआ है। ऐसे में आज संभावना है कि पार्टी अध्यक्ष के चुनाव को लेकर फैसला किया जा सकता है। कांग्रेस के अधिकतर नेता चाहते हैं कि राहुल गांधी वापस सत्ता में आएं और पार्टी के अध्यक्ष का औपचारिक पद ग्रहण करें। पिछले महीने एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता और जी 23  के शीर्ष सदस्यों में से एक ने पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी को पत्र लिखकर संगठन में व्यापक बदलाव के लिए कहा था।

इन नेताओं के नाम चर्चा में 

कांग्रेस पार्टी का विचार यह है कि मार्च 2022 में पांच राज्यों में होने वाले महत्वपूर्ण विधानसभा चुनावों के बाबत आंतरिक चुनाव प्रक्रिया अब संभव नहीं हो सकती है। इसके विपरीत, पार्टी सदस्यता अभियान शुरू कर सकती है जो आगे होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए पहला आवश्यक कदम है। सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस कार्यसमिति अगले पार्टी चुनाव को विधानसभा चुनावों के बाद कराने पर विचार कर सकती है। वहीं, इस मुद्दे पर स्पष्टता के अभाव में अंतरिम व्यवस्था के रूप में कुछ नेताओं के बारे में अटकलें तेज हो गई हैं, जिनमें सचिन पायलट और कमलनाथ के नाम शामिल हैं।

बीते डेढ़ साल से चल रही नए अध्यक्ष के चुनाव की मांग

हालांकि कांग्रेस पिछले डेढ़ साल से नए पार्टी अध्यक्ष के चुनाव की मांग से परेशान है, लेकिन विरोधाभास यह है कि यह अवधि वास्तव में पार्टी को निर्धारित चुनावी कैलेंडर 2022 के अंत के करीब लेकर पहुंच गई गई है। कांग्रेस में पिछला आंतरिक चुनाव 2017 दिसंबर में 5 साल की अवधि के लिए हुआ था, लेकिन राहुल गांधी ने लोकसभा चुनावों में पराजय के बाद मई 2019 में बीच में ही पद छोड़ दिया था। उसके बाद से सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर काम देख रही हैं।

कपिल सिब्बल ने खुलकर किया था विरोध

पंजाब में सियासी उथल-पुथल के बाद कांग्रेस में दरकिनार किए गए ‘जी-23’ के नेता भी कांग्रेस आलाकमान पर हमलावर हो गए। पूर्व कानून मंत्री कपिल सिब्बल तो कांग्रेस नेतृत्व के खिलाफ खुलकर सामने आ गए जिसका नतीजा यह हुआ कि कार्यकर्ताओं ने सिब्बल के घर पर धावा बोल दिया और जमकर नारेबाजी की। कपिल सिब्बल ने कहा कि पार्टी का कोई अध्यक्ष नहीं है। कौन फैसले ले रहा है, नहीं मालूम।

पूरी स्टोरी पढ़िए