खुद संभाली कमान, 25 दिनों में 50 से ज्यादा जिलों का कर चुके हैं दौरा, जिसके चलते कोरोना वायरस के प्रसार पर कसा शिकंजा।

दीप
कानपुर. कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने देश ही नहीं प्रदेश में जमकर कहर ढाया। जिसके चलते विपक्षी दल यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित सरकार पर जमकर बरस रहे हैं। आरोप-प्रत्यारोप के बीच सूबे के मुखिया पिछले 25 दिन से 50 जिलों का दौरा कर कुछ हद तक संक्रमण पर ब्रेक लगा दी है। इसके साथ ही तीसरी लहर के प्रकोप से बच्चों को बचाने, वैक्सीनेशन पर विशेष ध्यान दे रहे हैं। जानकारों का मानना है कि योगी के सटीक रणनीति का असर है कि प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या में कमी आई है। मृत्युदर में कमी के साथ रिकवरी रेट में भी इजाफा हुआ है।

 

खुद संभाली कमान

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने देश के सबसे बड़े आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में जमकर कहर ढाया। सैकड़ों लोगों को इस महामारी के चलते अपनी जान गवांनी पड़ी। श्मशान घाटों पर सुबह से लेकर देररात तक चिताएं जल रही थीं तो गंगा की रेत के नीचे से शव बाहर निकल रहे थे। सूबे के हालात बिगड़ते जा रहे थे। विपक्षी दलों के नेता प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ पर आरोप लगाकर उन्हें घेर हुए थे। खुद सीएम योगी आदित्यनाथ कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके थे। घर से ही वह कोरोना को काबू करने के लिए अधिकारियों से 14-14 घंटे वर्चुअल मीटिंग कर वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जीतोड़ मेहमत कर रहे थे। कोरोना से ठीक होते ही सीएम योगी सड़क पर उतर आए और पिछले 25 दिनों से लगातार जिलों का दौरा कर मरीजों से मिलते हैं और गांव में जाकर सीधे ग्रामीणों से रूबरू हो रहे हैं।

 

सबसे ज्यादा टेस्ट यूपी में हुए

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को और प्रभावी बनाए जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की ‘ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट’ की नीति कोरोना संक्रमण की रोकथाम में अत्यन्त उपयोगी सिद्ध हो रही है। इसी का नतीजा है कि उत्तर प्रदेश में एक दिन में रिकॉर्ड 2,99,373 टेस्ट कराए। कानपुर जिले की बात करें तो अप्रैल माह में कोरोना मरीजों की संख्या हरदिन लगभग 2 से तीन हजार के आसपास केस आ रहे थे, जो अब 100 के अंदर रह गए हैं। कानपुर जनपद में 85061 लोग कोरोना से संक्रमित हुए। 1675 मरीजों को अपनी जान गवांनी पड़ी। जबकि 79269 संक्रमित इलाज के बाद ठीक हुए। वर्तमान में 1117 लोग संक्रमित हैं और सभी का इलाज चल रहा है।

 

रिकवरी दर 91.4 प्रतिशत

प्रदेश में कोविड संक्रमण के मामलों में तेजी से कमी आ रही है। पॉजिटिविटी दर निरन्तर घट रही है। रिकवरी दर में लगातार वृद्धि हो रही है। प्रदेश में रिकवरी दर 91.4 प्रतिशत प्रतिशत से अधिक है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर लगातार कम हो रही है। कोरोना संक्रमण में राज्य का कुल पॉजिटिविटी रेट 3.6 प्रतिशत है। पिछले 24 घण्टे में यह दर 2.45 प्रतिशत रही है। प्रदेश में पिछले 24 घण्टों में 2,99,327 कोविड टेस्ट किए गए, जो कि एक दिन में सम्पन्न कोरोना जांच की अब तक की सर्वाधिक संख्या है। इसमें 2,19,000 टेस्ट प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में किये गए। विगत 24 घण्टों में की गयी कोविड जांच में 1,22,172 आरटीपीसीआर टेस्ट भी शामिल है। प्रदेश में अब तक 4,55,31,018 कोविड टेस्ट किए जा चुके हैं।

 

कुल एक्टिव केस की संख्या 1,23,579

प्रदेश में वर्तमान में कुल एक्टिव केस की संख्या 1,23,579 है, जो 30 अप्रैल, 2021 को कोरोना संक्रमण के एक्टिव केस की संख्या से 1,87,000 कम है। यह कमी 60 प्रतिशत से अधिक है। कोरोना वायरस पर सीएम योगी के प्रहार पर भाजपा विधायक सुरेंद्र मैथानी कहते हैं कि वह जमीन पर उतर कर काम करने वाले मुख्यमंत्री हैं। जनता से सीधे मिलते हैं और मौके पर ही निराकरण करते हैं। जबकि विपक्षी दल सुबह से लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ की खामियां खोजने के साथ ट्यूटर पर व्यस्थ रहता है। भाजपा विधायक ने कहा कि जिस तरह से अखिलेश यादव, प्रियंका गांधी व अन्य नेता आपदा के वक्त जनता का साथ देने के बजाए सरकार पर आरोप लगा रही है। सूत समेत इसका जवाब 2022 के चुनाव में इन्हें मिलेगा।


डब्ल्यूएचओ ने थपथपाई पीठ

भाजपा विधायक सुरेंद्र मैथानी ने बताया, योगी सरकार की ओर से कोरोना के तेजी से बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए यूपी के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में 5 दिवसीय रैपिड कोरोना टेस्टिंग अभियान चलाष जा रहा है। प्रदेश के सीएम योगी सरकार की ओर से चलाए गए इस अभियान को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी सराहा है। बताया, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपनी वेबसाइट पर यूपी सरकार के कोविड प्रबंधन की खुल कर तारीफ की है।


97,941 गांवों में चलाया गया अभियान

विधायक ने बताया कि योगी सरकार ने कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए राज्य के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में डोर-टू-डोर जाकर कोरोना के लक्षण वाले लोगों की रेपिड टेस्टिंग के साथ आइसोलेशन से लेकर कोरोना किट उपलब्ध करा रही है। भाजपा विधायक ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार ने बीते 5 मई से शुरू किए गए पांच दिवसीय अभियान के तहत राज्य के 75 जिलों में मौजूद 97,941 गांवों में इस अभियान को चलाया। जिसमें राज्य के स्वास्थ्य विभाग की ओर से गठित की गई 1,41,610 टीमों के साथ 21,242 सुपरवाइजरों ने 5 दिनों में राज्य के सभी गांवों को कवर कर लिया।

 

पूरी स्टोरी पढ़िए