विश्व हिन्दू परिषद ने किया था रामोत्सव का आयोजन।

कानपुर। विश्व हिंदू परिषद ने रविवार को कानपुर में रामोत्सव के दिन समाज में रामराज की परिकल्पना को साकार करने का बिगुल फूंक दिया। तो वहीं, इस दौरान साध्वी ऋतंभरा ने बड़ा बयान दिया है। साध्वी ने कहा कि अब हर  हिंदू  को चार बच्चे पैदा करने चाहिए। इनमें से दो आरआरएस और राष्ट्र को सौंपने चाहिए ताकि वह राष्ट्र यज्ञ में अपना योगदान दे सकें। जिसके साथ ही अन्य दो बच्चों को समाज कल्याण के लिए रखना चाहिए। वहीं, जब उनसे पूछा गया कि आपके चार बच्चे वाले बयान पर नया बवाल खड़ा हो गया तो, उन्होंने साफ कहा कि हमने हिंदुओं को चेताया है। अब बवाल होता है तो हो जाने दो।

दरअसल, शहर के निराला नगर स्थित रेलवे मैदान में आयोजित रामोत्सव कार्यक्रम के पहुंची साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि हिंदूओं के अब आगे आना होगा। राष्ट्ररक्षा हर हिंदू के लिए सर्वप्रिय है। जो बवाल होना होगा, उसे होने दें लेकिन राष्ट्ररक्षा के लिए आगे जरुर आएं। उन्होंने कहा कि जिस तरह से हनुमान जयंती पर शोभा यात्रा के दौरान हमला हुआ, उससे हिन्दू निराश है। मुस्लिम समाज होश में आए यह हरकत उचित नहीं है।

हिन्दुत्व की सीख देने वाली शिक्षा व्यवस्था हो : भैया जी

आरएसएस के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य भैयाजी जोशी ने कहा कि अब समय आ गया है कि भारत में हिन्दुत्व को सीख देने वाली शिक्षा व्यवस्था को बनाया जाए ताकि हर भारतीय को हिन्दुत्व पर गर्व हो।उन्होंने बिना भेदभाव के सबको सुरक्षा मुहैया कराने पर भी जोर दिया। वहीं, विहिप के केन्द्रीय महामंत्री मिलिंद पराण्डे ने कम्युनिस्टों पर करारा कटाक्ष किया। कहा कि कम्युनिस्टों ने कहा था कि रामभक्ति बंगाल में नहीं चलती। सिलीगुड़ी में डेढ़ लाख हिन्दू सड़कों पर उतरा तो अब बगले झांक रहे हैं। हिन्दू हर आसुरी शक्तियों का दमन करने में सक्षम है क्योंकि साहस और पराक्रम के संकल्प का नाम हैं राम। केवल भगवान की पूजा ही पर्याप्त नहीं, जब हम को दण्डधारी श्रीराम को हृदय में धारण कर समाज के दुश्मनों का नाश करने के लिए साथ आना होगा।

विहिप ने सपना साकार किया : स्वामी वेदांती 

राम मंदिर आंदोलन में आगे रहे स्वामी वेदान्ती महाराज ने कहा कि त्रेता युग में एक रावण वध करने के लिए एक राम ने जन्म लिया। आज तो हर गांव में विहिप ने सिंघल का सपना साकार किया है। इसका श्रीगणेश विश्व हिन्दू परिषद ने किया। हर वर्ग, हर समाज, हर घर से, हर समाज से राम आये हैं। 

रामराज की परिकल्पना का फूंका बिगुल

विश्व हिन्दू परिषद ने रविवार को रामोत्सव के सहारे रामराज की परिकल्पना साकार करने का बिगुल फूंक दिया। विहिप ने अपने भावी एजेंडे को भी सामने रखकर साफ कर दिया कि भारत को आतंकवाद और जेहादी मानसिकता से भी उबरना है। उसके लिए समाज के हर व्यक्ति को राम बनना पडे़गा, राष्ट्र हित के लिए आगे आना पड़ेगा। वहीं, इस कार्यक्रम से एक बात तो सीधे तौर पर साफ कर दी गई की रामोत्सव को लेकर कई भावी रणनीति भी तैयार की जा रही है। भविष्य में आरएसएस-संत औक विहिप की जुगलबंदी पूरी तेजी से आगे बढ़ेगी, बीजेपी पर इसी के सहारे एक्टिव रोल अदा करने का दबाव भी बनाया जाएगा, ताकि रामराज की परिकल्पना घर-घर पहुंच सकें। 

पूरी स्टोरी पढ़िए