स्वामी प्रसाद मौर्य के सामने लड़ सकते चुनाव!

UPelection2022: चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, RPN सिंह ने पार्टी से दिया इस्तीफा।

नई दिल्ली। कांग्रेस के झारखंड प्रभारी और यूपी में पंजे के स्टार प्रचारक ने कांग्रेस से अपना  त्यागपत्र  दे दिया है। उन्होंने आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा सौंपा है।

कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। आरपीएन सिंह ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा सौंपा है। झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। आरपीएन सिंह ने मंगलवार को अपना त्याग पत्र सोनिया गांधी को भेजा है। वह आज भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं। सूत्रों के हवाले से आज दिल्ली में बीजेपी में शामिल हो सकते है। बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के ऐलान से पहले इस बात की अटकलें लगायी जा रही थी। आरपीएन सिंह को यूपी में कांग्रेस ने स्टार प्रचारक बनाया था। आरपीएन सिंह यूपीए सरकार में मंत्री भी रहे है। वो यूपी के पूर्वांचल के पडरौना के रहने वाले हैं।

आरपीएन सिंह 1996, 2002 और 2007 में पडरौना विधानसभा सीट से कांग्रेस पार्टी से विधायक भी रह चुके हैं 1999 के लोकसभा चुनाव में आरपीएन सिंह तीसरे स्थान पर रहे थे। 2004 में वे दूसरे स्थान पर रहे थे। 2009 के लोकसभा चुनाव में रतनजीत प्रताप नारायण सिंह (आरपीएन सिंह) चुनाव जीते और यूपीए-2 की सरकार में भूतल परिवहन व सड़क राज्यमार्ग राज्यमंत्री, पेट्रोलियम राज्य मंत्री व गृह राज्य मंत्री रह चुके हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में आरपीएन सिंह को बीजेपी प्रत्याशी राजेश पाण्डेय ने 85540 हजार मतों से पराजित किया था।

‘मैं अपने राजनीतिक जीवन का आरंभ कर रहा हूं नया अध्याय’

आरपीएन सिंह ने इसके साथ ही ट्वीट कर कहा, ‘आज जब पूरा राष्ट्र गणतंत दिवस का उत्सव मना रहा है, मैं अपने राजनीतिक जीवन में नया अध्याय आरंभ कर रहा हूं। जय हिंद’।

स्वामी प्रसाद मौर्य के सामने लड़ सकते चुनाव!

सूत्रों के मुताबिक, आरपीएन सिंह बीजेपी के टिकट पर पडरौना सीट से स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं। आरपीएन सिंह 1996 से 2009 के बीच उत्तर प्रदेश के पडरौना निर्वाचन क्षेत्र से विधायक भी रहे हैं। वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आरपीएन को बीजेपी में शामिल होने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ पडरौना से मैदान में उतारा जा सकता है। कांग्रेस के बड़े नेता और केंद्र में मंत्री रहे कुंवर रतनजीत नारायण सिंह या आरपीएन सिंह पडरौना रियासत से हैं। उन्हें वहां का राजा साहेब कहा जाता है। उनका जन्म 25 अप्रैल 1964 को दिल्ली में हुआ था। वह कुशीनगर के क्षत्रिय परिवार से ताल्लुक रखते हैं। वह पडरौना के पास कुशीनगर लोकसभा सीट से जीतकर संसद पहुंचे थे। आरपीएन सिंह करीब 4 दशक से राजनीति में सक्रिय हैं और 3 बार विधायक और एक बार सांसद रह चुके हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए