गुवाहाटी में पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) के प्रवक्ता ने कहा कि दुर्घटना एनएफआर के अलीपुरद्वार संभाग के अंतर्गत एक इलाके में शाम करीब 5 बजे हुई।

डेली जनमत न्यूज डेस्क। पश्चिम बंगाल (West Bengal) के जलपाइगुड़ी जिले (Jalpaiguri) में दोमोहानी के पास गुरुवार को बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन (Bikaner-Guwahati Express train accident) के 12 डिब्बे पटरी से उतर गये और कुछ डिब्बे पलट गए, घटना स्थल पर मौजूद अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक हादसे में 9 यात्रियों की मौत हो गई और 45 से अधिक लोग घायल हो गए। गुवाहाटी में पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) के प्रवक्ता ने कहा कि हादसा एनएफआर के अलीपुरद्वार संभाग के अंतर्गत एक इलाके में शाम करीब 5 बजे हुआ । दुर्घटनास्थल गुवाहाटी से 360 किलोमीटर से अधिक दूरी पर है।

नई दिल्ली में रेलवे के अधिकारी ने कहा कि रेलवे सुरक्षा कमिश्नर दुर्घटना के कारणों की जांच करेंगे। गुवाहाटी में एनएफआर के एक बयान में कहा गया है कि बचाव अभियान पूरा हो गया है। दुर्घटना के समय ट्रेन में 1,053 यात्री सवार थे।

जलपाइगुड़ी की जिलाधिकारी मौमिता गोदारा बसु ने कहा, ‘दुर्घटना में कम से कम 45 लोग घायल हुए हैं। कुछ की हालत गंभीर है, लिहाजा मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। बचावकर्मियों ने अंधेरे और घने कोहरे के बीच जीवित बचे लोगों और शवों का पता लगाने के लिये प्रत्येक डिब्बे की अच्छी तरह से तलाशी ली।'

यात्रियों ने सुनाई आपबीती

रेलवे अधिकारियों के अनुसार छह डिब्बे बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हुए हैं। एक यात्री ने कहा, 'हमें अचानक झटका लगा। हम सब जोर-जोर से हिल रहे थे और ऊपर की सीट पर रखा सामान इधर-उधर गिर गया।' आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त एक डिब्बा टक्कर के कारण दूसरे डिब्बे के ऊपर चढ़ गया, जबकि कुछ डिब्बे ढलान से उतरकर पलट गए।

रेलवे सुरक्षा आयुक्त दुर्घटना के कारणों की जांच करेंगे 

नई दिल्ली में रेलवे के एक अधिकारी ने कहा कि रेलवे सुरक्षा आयुक्त दुर्घटना के कारणों की जांच करेंगे। गुवाहाटी में एनएफआर के एक बयान में कहा गया है कि बचाव अभियान पूरा हो गया है। दुर्घटना के समय ट्रेन में 1,053 यात्री सवार थे। कोविड-19 स्थिति की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्रियों के साथ ऑनलाइन बैठक के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दुर्घटना के बारे में जानकारी दी। बनर्जी ने प्रधानमंत्री को राहत एवं बचाव कार्यों के बारे में बताया। बनर्जी ने इस संबंध में जलपाइगुड़ी जिलाधिकारी से भी बात की।भारतीय रेलवे ने प्रत्येक मृतक के परिजन के लिये 5 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों के लिए 1 लाख रुपये और मामूली रूप से घायल यात्रियों के लिए 25,000 रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा की है।

छह डिब्बे बुरी तरह से क्षतिग्रस्त

मोदी ने बाद में ट्वीट किया, ‘रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव से बात की और पश्चिम बंगाल में हुई ट्रेन दुर्घटना के स्थिति का संज्ञान लिया। मेरी संवेदनाएं सभी परिवारों के साथ हैं। हादसे में घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं’ रेलवे अधिकारियों के अनुसार छह डिब्बे बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हुए हैं। एक यात्री ने कहा, ‘हमें अचानक झटका लगा। हम सब जोर-जोर से हिल रहे थे और ऊपर की सीट पर रखा सामान इधर-उधर गिर गया.’ आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त एक डिब्बा टक्कर के कारण दूसरे डिब्बे के ऊपर चढ़ गया, जबकि कुछ डिब्बे ढलान से उतरकर पलट गए।

घायल यात्रियों की लिस्ट

मोनिका रॉय 48 , विद्युत विश्वास 50, शाहजहां शेख 51 , माधबी बर्मन, कुलदीप रावत 20, जगदीश प्रजापति 35, दीपक विश्वकर्मा 24, मोहिंद्र सोनी 35, कुंदन कुमार सिंह 39, खीबा राम 29, अब्दुल सलाम 38, ईश्वर राम 35, पूर्णिमा बर्मन 35, देबाबरता शर्मा 19, जउदुल 40, केशवाला बर्मन 50, पिंकी बर्मन 16, सोफीकुल अली 18, अमाया बर्मन 19, फाटक 65, हरदान चक्रवर्ती 34, समीर 30, पूर्णिमा बर्मन 20, जयंता बर्मन 30. प्रसनजीत बर्मन 32, किशोर बर्मन 26, विश्वजीत बर्मन 26, विशाल बर्मन 14, दीप रॉय 11, हर सहानी 46, लक्ष्मण सिंह 27,  सोमनाथ रॉय 30, धर्मेंद्र चौधरी 39, जयंती बर्मन 58, ज्ञानेंद्र सिंह 22, अटल देव 26

मरने वालों में लालू कुमार 56, चिरंजीत बर्मन 23, शाहिदा खातून 17, सुभाष राय 38, सुमन देव 36, शांता देवी 69, के नाम शामिल हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए