नोटबंदी के समय जन्मे खंजाची नाथ को नहीं भूले सपा प्रमुख, यात्रा की शुरुआत उसी के हाथों से हरी झंडी दिखवाकर की।

अखिलेश यादव ने कानपुर से की यात्रा की शुरुआत I Daily Janmat News I DJN |

कानपुर। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कानपुर से यूपी चुनाव फतह करने को विजय रथ यात्रा का शंखनाद किया। जाजमऊ गंगा पुल पर अखिलेश ने रथ पर सवार होने के बाद हाथ हिलाते हुए सभी का अभिनंदन किया तो कार्यकर्ताओं ने जोरदार नारेबाजी की। इस दौरान नोटबंदी के समय कानपुर देहात के झींझक में जन्मे खंजाची नाथ ने यात्रा की शुरुआत हरी झंडी दिखाकर की।  

पूर्व सीएम अखिलेश यादव लखनऊ से सीधे कानपुर पहुंचे। इसके बाद जाजमऊ गंगा पुल से समाजवादी विजय रथ यात्रा की शुरुआत की। अखिलेश के स्वागत के लिए कार्यकर्ताओं ने शहर को होर्डिंग्स से पाट दिया। माना जा रहा है कि गंगा-जमुनी तहजीब को सामने लाने के मकसद से गंगा पुल से यात्रा शुरू की गई है। इस दौरान अखिलेश ने कहा कि प्रदेश में जब सपा की विजय यात्रा निकाली है, तब-तब यूपी में परिवर्तन आया है। रथयात्रा के माध्यम से किसानों, बुजुर्गों का आशीर्वाद लेंगे। उन्होंने कहा कि लखीमपुर में किसानों के साथ कानून को भी कुचला गया है। उन्होंने कहा कि कानपुर यूपी का औद्योगिक शहर है, यहां पर सरकार ने उद्योगों को ठप कर दिया है। इसलिए यात्रा की शुरुआत कानपुर से की गई है।

सड़कों पर बुल घूम रहे 

अखिलेश ने कहा कि बाबा सीएम अकेले नहीं जाएंगे। इनके साथ बुल और बुलडोजर भी चला जाएगा। हमारे बाबा मुख्यमंत्री बुलडोजर लेकर घूम रहे हैं और सड़कों पर बुल घूम रहे हैं। सड़क पर चलने वालों जानवरों से न जाने कितनों की जान चली गई। आए दिन किसी किसान की जान गई। कभी कोई मोटरसाइकिल टकराई तो कहीं कार। इसलिए आने वाले समय में जब बीजेपी का सफाया होगा, तब बाबा मुख्यमंत्री का भी सफाया होगा। साथ ही बुल और बुलडोजर भी चला जाएगा।

अखिलेश यादव का हुआ जोरदार स्वागत 

दो दिन में 190 किलोमीटर की यात्रा में अखिलेश 4 जिलों का भ्रमण करेंगे। गंगा पुल पर अखिलेश यादव से मिलने के लिए कार्यकर्ताओं में होड़ लगी रही। सपा कार्यकर्ता विजय रथ के साथ सेल्फी लेते रहे। जाजमऊ और नौबस्ता में अखिलेश यादव का स्वागत हुआ। कुछ ही देर में अखिलेश एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे। वहीं रथयात्रा लेकर अखिलेश घाटमपुर होते हुए बुंदेलखंड के जनपदों में भ्रमण करेंगे और जनता के बीच अपनी उपलब्धियों के साथ बीजेपी सरकार की खामियां बताएंगे।  

जानें कौन है खजांची ?

बता दें कि 2 दिसंबर 2016 को कानपुर देहात की एक महिला ने बैंक की लाइन में एक बच्चे को जन्म दिया था। इस बच्चे का नाम यूपी के तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव ने खजांची रख दिया था। इतना ही नहीं अखिलेश हर साल उसका जन्मदिन भी मनाते हैं। वहीं रथ यात्रा की शुरुआत भी खंजाची नाथ ने हरी झंडी दिखाकर की।

पूरी स्टोरी पढ़िए